फ्रीज बैंक खाते के आदेश रद्द करने को लेकर दाखिल याचिका खारिज

प्रयागराज:  इलाहाबाद हाईकोर्ट ने बैंक खाते को फ्रीज करने के आदेश को रद्द करने तथा फिर से खाता संचालन करने का निर्देश जारी करने की मांग में दाखिल याचिका को मंगलवार को खारिज कर दिया। कोर्ट ने कहा कि याची ने तथ्य छुपाकर कोर्ट से अनुतोष पाने की गुहार लगाई है, इस कारण याचिका खारिज की जाती है।
यह आदेश कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश संजय यादव व जस्टिस अजय भनोट की खंडपीठ ने याची रोहित जावा की याचिका को खारिज करते हुए दिया है। कोर्ट ने कहा कि याची ने जिस पत्र 15 मार्च 2021 को याचिका में रद्द करने की उस पत्र में वर्णित तथ्य को याचिका में छिपा रखा है। याची ने याचिका में यह बात नहीं बताई कि पासपोर्ट में फर्जी करने तथा प्रवर्तन निदेशालय द्वारा याची के सम्बन्ध में की जा रही जांच को लेकर उसके खाते को फ्रीज किया गया है। याची ने याचिका स्वच्छ मन व हाथों से दाखिल नहीं की, इस कारण याचिका खारिज की जाती है।
कोर्ट ने याचिका वापस करने की याची के अधिवक्ता की मांग को ठुकरा दिया और कहा कि कोर्ट याचिका खारिज करते हुए याची पर हर्जाना नहीं रही है। परन्तु कोर्ट ने कहा कि याची भविष्य में याचिका दायर करते समय सभी तथ्यों को सही तरीके से याचिका में स्पष्ट करेगा।

 

NEWS KABILA

Check Also

UP में आज से कोरोना कर्फ्यू में दो घंटे की ढील, अब रात नौ बजे तक गुलजार रहेंगे बाजार

उत्तर प्रदेश में कोरोना महामारी को लेकर बेहतर होते हालात के बीच सोमवार से आंशिक …