कालसर्प दोष से पीड़ित लोग शनिवार को जरूर करें यह उपाय, हनुमान जी आपकी परेशानियां करेंगे दूर

शनिवार के दिन न्यायधीश शनिदेव की पूजा अर्चना के अलावा हनुमान जी की भी पूजा आराधना की जाती है, अगर आप शनिवार के दिन हनुमान जी की पूजा करते हैं तो इससे आप अपने जीवन की बहुत सी समस्याओं से छुटकारा प्राप्त कर सकते हैं, बहुत से लोग ऐसे हैं जो शनिवार के दिन हनुमान जी की पूजा करते हैं और अपनी परेशानियों से मुक्ति पाने का प्रयास करते हैं, यदि किसी व्यक्ति की कुंडली में कालसर्प दोष की समस्या उत्पन्न हो रही है तो इसकी वजह से व्यक्ति को अपने जीवन में कामयाबी हासिल करने में बहुत सी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है और उसके कामकाज किसी न किसी कारण से बाधित होते रहते हैं, व्यक्ति चाहे कितनी भी कोशिश कर ले उसको कामयाबी पाने में बहुत ही कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है, अगर आप कालसर्प दोष से मुक्ति पाना चाहते हैं तो इसके लिए आप शनिवार के दिन ज्योतिषीय उपाय अपना सकते हैं, अगर आप शनिवार के दिन यह उपाय करेंगे तो इससे आपको बहुत ही जल्दी लाभ देखने को मिलेगा और आप कालसर्प दोष से मुक्ति प्राप्त कर सकते हैं।

व्यक्ति अगर कालसर्प दोष से पीड़ित है तो उसको स्वयं ही इस उपाय को करना होगा, अगर आप यह उपाय लगातार 21 दिनों तक करते हैं तो इससे आपको लाभ मिलेगा, आखिर इस उपाय को किस प्रकार करना है? चलिए जानते हैं इसके बारे में

कालसर्प दोष से मुक्ति पाने के लिए शनिवार को करें ये उपाय

अगर आप कालसर्प दोष से परेशान चल रहे हैं तो आप इस उपाय को 21 दिनों तक करें, आप अपने समय और सुविधा के अनुसार सुबह और शाम के वक्त इस उपाय को कर सकते हैं, आप शनिवार से इस उपाय की शुरुआत कीजिए और 21 दिनों तक लगातार ब्रह्मचर्य का पालन करें, आप अगर इस उपाय को सुबह या शाम को कर रहे हैं तो सबसे पहले सरसों के तेल या फिर गाय के घी का एक दीपक जला लीजिए और पहले आखरी दिन के अलावा 21 दिनों के बीच जितने भी शनिवार और मंगलवार आएंगे उन दिनों में आप विशेष रूप से आक के 11 पत्तों की माला अपने हाथ से लाल धागे में बना लें, आप इस उपाय को सुबह 8:00 बजे से रात 9:00 बजे के बीच कर सकते हैं।

आप किसी भी हनुमान मंदिर में शुद्ध और पवित्र होकर जाएं और सबसे पहले एक दीपक जाकर हनुमान जी के समक्ष जला दें, इसके साथ ही आप “ओम हनुमते नमः” मंत्र का 108 बार दोनों वक्त जाप कीजिए, जब आप इस मंत्र का जाप कर रहे हो तो उस दौरान हनुमान जी से कालसर्प दोष के प्रभाव से मुक्ति पाने की प्रार्थना मन ही मन में कीजिए, इसके पश्चात आप हनुमान चालीसा का पाठ सुबह 5 बार और शाम को दो बार करें यानी आपको 1 दिन में 7 बार हनुमान चालीसा का पाठ करना होगा, आपको यही 21 दिनों तक लगातार करना पड़ेगा, आप हनुमान जी को आक के पत्तों की माला पहनाएं, अगर आप यह उपाय नियमित रूप से करते हैं तो इससे कालसर्प दोष दूर होगा और हनुमान जी की कृपा से आपके कष्ट समाप्त होंगे।

यह ज्योतिषीय उपाय कालसर्प दोष से मुक्ति पाने के लिए सबसे कारगर इलाज माना जाता है, अगर आप इसको विधि-विधान पूर्वक करते हैं तो इससे आपके संकट महाबली हनुमान जी दूर करेंगे और कालसर्प दोष का प्रभाव कम होगा।

Check Also

महिलाओं में अगर होती हैं ये 10 अच्छी आदतें, तो मां लक्ष्मी कृपा से नहीं होती है धन की कमी

हिंदू धर्म में हर देवी देवताओं को अपना अलग महत्व है और अलग-अलग पहचान है। …