फतेहाबाद: गांवों में बसों के चक्कर कम होने से आधा दर्जन गांवोँ के लोग परेशान

फतेहाबाद, 3 फरवरी (हि.स.)। जिले के रतिया उपमंडल के पंजाब बॉर्डर के साथ लगते आधा दर्जन गांवों में सुबह के समय बस की कमी के कारण यात्रियों के साथ-साथ विद्यार्थियों विशेष कर छात्राओं को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। आधा दर्जन गांवों के लोगों ने इस बारे में शनिवार को प्रदेश के मुख्यमंत्री जिला उपायुक्त व रोडवेज विभाग के महाप्रबंधक को पत्र लिखकर लाधुवास-रतिया रूट पर बसों की संख्या बढ़ाने की मांग की है।

गांव लाधुवास, सरदारे वाला, नंगल, लठेरा, ब्राह्मणवाला निवासी राजकुमार कटारिया, गुरप्रीत सिंह तुरना, परमजीत सिंह, जगजीत सिंह, सतीश कुमार आदि लोगों ने बताया कि गांव लाधुवास रतिया उप मंडल का सबसे आखिरी गांव है और पंजाब बॉर्डर पर स्थित है। लाधुवास से रतिया तक करीबन आधा दर्जन गांव पड़ते हैं जहां से संैकड़ों की संख्या में आम लोग, विद्यार्थी व अन्य मजदूर काम करने के लिए रतिया और फतेहाबाद जाते हैं।

लाधुवास से रतिया के लिए सुबह 7:20 व 8:40 पर बस जाती है लेकिन मात्र दो ही चक्कर होने के कारण इसमें सवारी पूरी पर्याप्त मात्रा में नहीं आ पाती। इस कारण संैकड़ो लोगों और विद्यार्थियों को अन्य साधनों पर रतिया या फतेहाबाद जाना पड़ता है। इससे उन्हें आर्थिक नुकसान भी होता है और समय की भी बर्बादी होती है। लधुवास-रतिया रोड पर सुबह के समय दो चक्कर रोडवेज बसों के लगाए जाए ताकि लोगों को परेशानियों का सामना न करना पड़े।