थाईलैंड में भी पार्थ-अर्पिता ने खरीदी है संपत्ति

parth with arpita_851

कोलकाता, 26 सितंबर (हि.स.)। शिक्षक नियुक्ति भ्रष्टाचार मामले में गिरफ्तार राज्य के पूर्व शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी और उनकी महिला अर्पिता मुखर्जी ने थाईलैंड में भी जमीन खरीदी थी। हालिया पूछताछ में यह खुलासा हुआ है। ईडी के एक सूत्र ने सोमवार को इस बारे में जानकारी दी है। ईडी की चार्जशीट में इस बारे में जानकारी भी दी गई है। पार्थ चटर्जी और अर्पिता समय-समय पर वहां जाया करते थे। चटर्जी और अर्पिता मुखर्जी जेल हिरासत में हैं, लेकिन ईडी और सीबीआई इन मामलों की तहकीकात कर रहे हैं।

ईडी सूत्रों के मुताबिक, पार्थ चटर्जी समय मिलने पर अर्पिता मुखर्जी के साथ लग्जरी होटलों में जाया करते थे। यहीं नहीं, पूर्व शिक्षा मंत्री अर्पिता को सिंगापुर में एक सरकारी कार्यक्रम में भी ले गए थे।

ईडी की चार्जशीट के मुताबिक, पार्थ की शेल कंपनी सिम्बायोसिस ट्रेडर्स के डायरेक्टर स्नेहमय दत्त से पूछताछ के बाद सनसनीखेज जानकारी सामने आई है। पता चलता है कि पार्थ 2014-2015 में एक संगठन के निमंत्रण पर थाईलैंड गए थे। अर्पिता उनके साथ गई थी। अर्पिता का सारा खर्च पूर्व मंत्री ने वहन किया था, लेकिन सिर्फ विश्व प्रसिद्ध समुद्र तट पर घूमे ही नहीं, पार्थ चटर्जी ने वहां एक बंगला खरीदा था जिसमें अर्पिता चटर्जी के साथ भागीदारी है।

ईडी के सूत्रों के मुताबिक पार्थ और अर्पिता के घर से मिले दस्तावेजों से पता चलता है कि वे कई बार थाईलैंड की यात्रा कर चुके हैं। चार्जशीट में, जांचकर्ताओं ने दावा किया कि आपा यूटिलिटी सर्विसेज के नाम पर कई रियल एस्टेट निवेश हैं। फिलहाल इन तमाम पहलुओं की जांच की जा रही है।

Check Also

महाराष्ट्र-कर्नाटक सीमा विवाद: सत्ताधीशों ने नहीं लिया सही स्टैंड तो…! रोहित पवार की चेतावनी

महाराष्ट्र-कर्नाटक सीमा विवाद: कन्नड़ रक्षण वेदिके के कार्यकर्ताओं ने मंगलवार (6 दिसंबर) को बेलगाम में हिरबगेवाड़ी …