Pankaj Tripathi Struggle: कभी अँधेरी में घूम कर कहते फिरते थे- कोई एक्टिंग करवा लो और पत्नी उठाती थी घर का सारा खर्च

हर साल बहुत से युवा बॉलीवुड में नाम कमाने के लिए मायानगरी मुंबई पहुंचते है लेकिन उनमें से बहुत से लोगों को तो वहां से खाली हाथ ही लौटना पड़ता है। फिर भी उनमें से कुछ ऐसे होते है जो अपने अभिनय की कला को पूर्ण करने के लिए जी-जान से जुट जाते है और फिर एक ऐसा दिन आता है जब उन्हें हर कोई जानने लगता है और वो सफलताओं की बुलंदी पर पहुंच जाते है।

ऐसे ही एक बेजोड़ कलाकार है पंकज त्रिपाठी (Pankaj Tripathi) जिन्होंने फिल्मों में काम पाने के लिए लगातार 6 साल तक संघर्ष किया और मुंबई की सड़कों पर भटकते रहे और आज बिना किसी सपोर्ट के वो बॉलीवुड के इस समय के सबसे बेहतरीन कलाकारों में से एक है। अभी हाल में ही पंकज त्रिपाठी ने अपने सँघर्ष के दिनों की कुछ यादें ताजा की है, आइये जानते है कि उन्होंने क्या कुछ कहा आपने सँघर्ष को लेकर।

Pankaj Tripathi Struggle Story

 

पंकज त्रिपाठी ने मुंबई में फिल्मों में रोल के लिए उनके द्वारा किये गए संघर्ष के बारें में बताया कि काम की तलाश में वो मुंबई के अंधेरी की गलियों में भटकते रहते थे। उन्होंने बताया कि 2004 से लेकर 2010 तक वैसे तो उन्हें कुछ फिल्मों में छोटे-मोटे रोल करने को मिले लेकिन उनसे उन्हें ना तो प्रसिद्धि मिली और ना ही काम मिला। जिस वजह से उन्हें इस दौरान अपना खर्चा चलाने में बहुत परेशानी हो रही थी लेकिन उनमें कभी भी नकारात्मक सोच ने जन्म नहीं लिया और वो लगातार मेहनत करते रहे।

पत्नी उठाती थी उनका और घर का सारा खर्च

Pankaj Tripathi

पंकज त्रिपाठी (Pankaj Tripathi) बताते है कि उनके संघर्ष के दिनों में उनकी और घर की सभी जरूरतों का ख्याल उनकी पत्नी मृदुला रखती थी। उन्होंने कहा कि वो फिल्मों में रोल के लिए अंधेरी की गलियों में घूमता था और सबसे विनती करते थे कि कोई उनसे एक्टिंग करवा लो लेकिन उस समय उनकी कोई नहीं सुनता था। उन्होने फिल्मों में एक्टिंग के अलावा फिल्मी लाइन में नौकरी की भी तलाश की लेकिन उन्हें वहां से भी खाली हाथ लौटना पड़ा था। उनकी पत्नी ही घर के खर्च जैसेकि किराया, राशन और बाकी सभी खर्चे भी करती थी।

अब लगी रहती है फिल्मों की लाइन

पंकज त्रिपाठी ने बताया कि पहले जहां उनके मांगने के बाद भी उन्हें फिल्में नहीं मिलती थी तो वहीं अब उनके पास बहुत सी फिल्मों के ऑफर आने लगे है। वो कहते है कि कहां पहले उन्हें गलियों में भटकना पड़ता था तो वही अब उनकी पार्किंग में ही फिल्में ऑफर होने लगी है। पार्किंग में ही कई डायरेक्टर मिल जाते है और पंकज त्रिपाठी के साथ फिल्म करने की इच्छा जताने लगती है।

Gangs of Wasepur ने दिलाई पहचान

Pankaj Tripathi

 

पंकज त्रिपाठी (Pankaj Tripathi) वैसे तो 2012 से पहले छोटे-मोटे रोल कर चुके थे लेकिन उनके करियर का सबसे बड़ा ब्रेक उन्हें फिल्म गैंग्स ऑफ वासेपुर से मिला जिसके बाद उन्होने कभी भी पीछे मुड़ कर नहीं देखा। गैंग्स ऑफ वासेपुर में उनके द्वारा की गई एक्टिंग ने बहुत लोगों को उनका दीवाना बना दिया, इसके अलावा उन्होंने दबंग 2, फुकरे, फुकरे रिटर्न्स, मांझी, मसान, बरेली की बर्फी, स्त्री, लुका छिपी, गुंजन सक्सेना और लूडो में अहम भूमिका निभा चुके है। हाल में ही पंकज त्रिपाठी की फिल्म मिमी रिलीज हुई है जिसमें उनके साथ कीर्ति सनन दिखाई दे रही है।

Mirjapur ने बदल दी जिंदगी

फिल्मों के अलावा पंकज त्रिपाठी (Pankaj Tripathi) ने वेबसीरीज “मिर्जापुर” में बेहतरीन अदाकारी निभाई थी जिसके बाद उनका बॉलीवुड में कद और भी बढ़ गया हैं। मिर्जापुर में उन्होंने अखंडानंद त्रिपाठी उर्फ कालीन भैया नाम के किरदार को निभाया था। उनका यह किरदार इतना ज्यादा प्रभावशाली था कि वे लोगों के दिल में बस गए, यह उनके करियर का बड़ा टर्निंग पॉइंट साबित हुआ।

Check Also

‘Ghum Hai…’ की सई को बनना था वकील, कोर्टरूम के माहौल ने बदल दिया मन और बन गईं एक्ट्रेस

नई दिल्ली: टीवी शो ‘गुम है किसी के प्‍यार में’ (Ghum Hai Kisikey Pyaar Meiin) की …