Panic Attack: जानिए पैनिक अटैक और उसके इलाज के बारे में !

पैनिक अटैक डर और बेचैनी का एक अहसास है जो बिना साफ़ वजह के गंभीर फिजिकल रिएक्शन को ट्रिगर करता है। ये फीलिंग्स कभी भी और कहीं भी हो सकती हैं। ये बिना किसी चेतावनी के हो सकती है और ये कई सेकंड, कई मिनट, कई घंटे तक रह सकती हैं। जब किसी को पैनिक अटैक पड़ता है, तो उस इंसान को ऐसा लगता है जैसे वो मर रहा हो, दिल का दौरा पड़ रहा हो, अपना कण्ट्रोल खो रहा हो या पागल हो रहा हो। पैनिक अटैक आपको कभी-कभी या लगातार हो सकता हैं। आज के लेख में हम आपको पैनिक अटैक और उसके इलाज के बारे में कुछ ज़रूरी बातें बताएँगे।

पैनिक अटैक से जान का खतरा नहीं है, लेकिन यह बहुत डरावना होता है। नतीजतन, जिन लोगों को बार बार पैनिक अटैक पड़ता है वो लोग इस बात से डर जाते हैं की कही उनको दुबारा न अटैक पड़ने लगे। हलाकि, वो अपनी डेली रूटीन में कुछ बदलाव कर के खुद को इस सिचुएशन से बचा सकते हैं। कुछ लोग इसकी वजह से अपने घर से बाहर नहीं निकलना चाहते हैं या वे इस सिचुएशन की वजह से अपने काम पर जाने से भी डरते हैं।

ऐसा पाया गया है की, पुरुषों की तुलना में महिलाओं में पैनिक अटैक ज़्यादा पढ़ते हैं। इसके अलावा ये भी पाया गया है की, महिलाओं में पैनिक अटैक प्यूबर्टी के समय से हे शुरू हो सकते हैं।

पैनिक अटैक और उसके इलाज

पैनिक अटैक के कुछ सिम्पटम्स :

  • पसीना आना, कपकपाने लगना, ज़ोर से हिलने लगना
  • सांस का घुटना या सांस लेने में तकलीफ होना
  • दिल की धड़कन का तेज़ हो जाना
  • सीने या पेट में दर्द
  • ऐसा एहसास होने के जैसे कुछ भयानक होने वाला है

 

पैनिक अटैक और उसके इलाज

इलाज :

  • आप जो देख रहे हैं, सुन रहे हैं और महसूस कर रहे हैं, उस पर ध्यान देने की कोशिश करें, ऐसा करने से आप मोमेंट की सराहना कर पाएंगे। इसके अलावा, ऐसा करने से, आप उन नेगेटिव थॉट्स को फ़िल्टर कर पाएंगे जो आपके अंदर डर को पैदा करता हैं।
  • डॉक्टर पैनिक अटैक का इलाज दवाओं और बेंज़ोडायजेपाइन जैसी एंटीडिपेंटेंट्स की मदद से कर सकते हैं। आपको जब भी पैनिक अटैक महसूस हो आप तुरंत डॉक्टर से कंसल्ट कर के दवा ले सकते हैं।
  • गहरी साँसें लेना और धीरे धीरे कर के साँस छोड़ना, यह तकनीक मानसिक तनाव को दूर करने में काफी मदद करती है। इसके अलावा, ऐसा करने से आप एक जगह पर आसानी से कॉन्ट्रेटे भी कर पाएंगे। आरामदेय गाने सुनना उनमे से एक तरीका हैं जो आपके दिमाग को आराम देगा और जीवन के तनावों को दूर करने में मदद करेगा।
  • इंसान का डर तनाव को बढ़ा सकता है और तनाव बढ़ने की वजह से डर और भी बढ़ सकता है । किसी भी तरह से, तनाव हार्मोन जारी करता है जो आपके “पैनिक बटन” को दबा सकता है। अपने जीवन के क्षेत्रों का प्रबंधन करके जो तनाव लाते हैं, आप घबराहट के लक्षणों को कम कर सकते हैं। आप सुखद चीजों के बारे में भी सोच सकते हैं या किसी वस्तु पर ध्यान केंद्रित कर सकते हैं जब तक कि असहज भावनाएं न गुजरें।

पैनिक अटैक और उसके इलाज

हमने आज के लेख में आपको पैनिक अटैक और उसके इलाज के बारे में बारे में बताया है, अगर आप में बताए गए सिम्पटम्स पाए जा रहे है तो आप तुरंत उन पर ध्यान दें और डॉक्टर की सलाह ले कर उसका इलाज करें।

Check Also

Bhai Dooj 2020 Puja Muhurat: भाई दूज आज, जानिए पूजा का शुभ मुहूर्त

हिन्दुओं का लोकप्रिय पर्व भाई दूज आज पूरे देश में मनाया जा रहा है। यह …