पाकिस्‍तानी ओपनर को मिली ‘दूसरी जिंदगी’, बल्‍लेबाजी के दौरान खतरनाक बिमारी के चलते बिगड़ी थी हालत

लाहौर. पाकिस्तानी (Pakistsn) बल्लेबाज आबिद अली (Abid Ali ) को दूसरी जिंदगी मिल गई है और अब वह क्रिकेट में मैदान पर वापसी करने को लेकर बेकरार हैं. उन्‍होंने ‘एक्यूट कोरोनरी सिंड्रोम (ह्रदय की धमनी से जुड़ी बीमारी)’ से उबरने को ‘दूसरी जिंदगी मिलने जैसा’ करार दिया. आबिद ने पाकिस्तान के ‘नेशनल हाई परफार्मेंस सेंटर’ में अपना रिहैबिलिटेशन शुरू किया है. दरअसल पिछले दिनों कायद-ए-आजम ट्रॉफी में बल्लेबाजी करते हुए 34 साल के इस खिलाड़ी के सीने में तेज दर्द शुरू हो गया था.

जिसके बाद उन्‍हें ‘एक्यूट कोरोनरी सिंड्रोम’ बीमारी का पता चला. दर्द उठने के बाद टीम के डॉक्टर उन्हें स्थानीय अस्पताल ले गए, जहां उनकी ‘एंजियोप्लास्टी’ हुई. आबिद ने ‘पीसीबी (पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड) डिजिटल’ से कहा कि जैसे क्रिकेट की दूसरी पारी होती है वैसे ही, अल्लाह ने मुझे दूसरा जीवन दिया है. उन्होंने कहा कि बल्लेबाजी के समय मुझे बेचैनी और सीने में दर्द महसूस होने लगा.

बाउंड्री तक पहुंचते ही आने लगे थे चक्‍कर 

दर्द तेज होने पर मैंने अपने बल्लेबाजी साथी अजहर अली से भी सलाह ली. इसके बाद अंपायरों की अनुमति से मैंने मैदान के बाहर जाने लगा, लेकिन तभी बाउंड्री के पास पहुंचते हुए मुझे उल्टी होने लगी और चक्कर आने लगे. टीम के फिजियो और डॉक्टर असद दौड़कर  मेरी ओर आये और तुरंत मुझे अस्पताल ले गए.

उन्होंने बताया कि डॉक्‍टर्स ने उनका ईसीजी (इलेक्ट्रोकार्डियोग्राम) किया था, जो ठीक नहीं निकला. सामान्य व्यक्ति का हृदय 55 प्रतिशत पर काम करता है, जबकि उनका सिर्फ 30 प्रतिशत काम कर रहा था. उनके हृदय का एक वाल्व अवरुद्ध हो गया था. पीसीबी की मेडिकल टीम ने आबिद के लिए एक रिहैबिलिटेशन योजना तैयार की है जो खेल में उनकी वापसी में मदद कर सके.

Check Also

ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज बोलैंड को काउंटी टीम से खेलने के लिए मिल रहे कॉल

मेलबर्न :  एशेज में अपने शानदार प्रदर्शन के बाद ऑस्ट्रेलिया के 32 वर्षीय तेज गेंदबाज …