Pakistan: पाकिस्तान का खेल खत्म! खाली खजाना…बिजली गुल…भोजन की किल्लत के बीच अब गंभीर संकट

बेरोजगारी का विस्फोट: आर्थिक संकट से जूझ रहा पाकिस्तान हर दिन नई समस्याओं से जूझ रहा है. महंगाई के मारे आम पाकिस्तानी की थाली से रोटी गायब हो रही है। आटे जैसी रोजमर्रा की चीजों के दाम आसमान छू गए हैं, वहीं दूसरी ओर पाकिस्तान के करीब 30 शहर बिजली संकट के कारण बीते दिनों अंधेरे में डूब गए. स्थिति दिन-ब-दिन बिगड़ती जा रही है। अब लाखों लोगों की नौकरी पर खतरा मंडरा रहा है। 

पाकिस्तान में हर दिन लगभग हजारों लोगों की नौकरियां जा रही हैं. एक रिपोर्ट के मुताबिक, 2023 में लाखों पाकिस्तानी बेरोजगार हो जाएंगे। यानी संकट और भी गंभीर होने वाला है।

62 लाख से ज्यादा लोग बेरोजगार होंगे 

पाकिस्तान की न्यूज वेबसाइट ‘द डॉन’ में छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक, कारोबार बंद होने और फैक्ट्रियों में उत्पादन घटने से 2023 में 62 लाख (62 लाख) लोग बेरोजगार हो सकते हैं. यह आंकड़ा पाकिस्तान में कुल वर्कफोर्स का 8.5 फीसदी है। ये वो लोग हैं जो काम तो करना चाहते हैं लेकिन उनके लिए कोई रोजगार नहीं है.

गंभीर बेरोजगारी की संभावना के कारण पाकिस्तान सरकार अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) से जल्द राहत पैकेज की उम्मीद कर रही है। ऐसे में सरकार मिनी बजट को टालने का जोखिम नहीं उठा सकती है। यह भी कहा जा रहा है कि मिनी बजट आने से पाकिस्तान में बेरोजगारी और बढ़ेगी.

स्टैगफ्लेशन बढ़ेगा

मिनी बजट में शाहबाज शरीफ की सरकार गैस और बिजली के दाम बढ़ाएगी. पेट्रोलियम उत्पादों पर अतिरिक्त टैक्स और आयात-निर्यात पर टैक्स बढ़ाया जाएगा। क्योंकि सरकार के पास कोई दूसरा विकल्प नहीं बचा है। इससे ‘स्टैगफ्लेशन’ हो जाएगा। स्टैगफ्लेशन तब होता है जब मुद्रास्फीति की दर और बेरोजगारी की दर अपने चरम पर होती है।

आयात के लिए पर्याप्त खजाना नहीं है

पाकिस्तान भी बेहद बुरे हालात की ओर बढ़ता नजर आ रहा है। पाकिस्तान में महंगाई दर नई ऊंचाई पर पहुंचेगी। पाकिस्तान का विदेशी भंडार (13 जनवरी तक 4.601 अरब डॉलर) एक महीने के आयात के लिए भी पर्याप्त नहीं है। इसलिए सरकार वैसे भी IMF से उधार लेने के अलग-अलग तरीकों की तलाश कर रही है। इसके मिनी बजट की संभावनाओं को नकारा नहीं जा सकता। अगर इसे पेश किया जाता है तो इससे पाकिस्तान में बेरोजगारी बढ़ेगी। पाकिस्तान का विदेशी मुद्रा भंडार इस हद तक गिर गया है कि आवश्यक वस्तुओं के आयात पर भी गंभीर संकट खड़ा हो गया है। रोजमर्रा के सामान के साथ ही पाकिस्तान में आटा, गैस, पेट्रोल से लेकर दवाइयों तक का संकट गहरा गया है.

Check Also

चीन में अंतिम संस्कार के लिए जगह नहीं, डॉक्टरों को भी किया जा रहा मजबूर- रिपोर्ट

China Coronavirus Death: चीन में कोरोना महामारी को लेकर कोहराम मचा हुआ है। देश में रोजाना सैकड़ों …