PAK PM का शांति मिशन:इमरान खान बोले- अमेरिका और चीन के बीच तनाव खत्म कर सकता है पाकिस्तान, 50 साल पहले भी यही किया था

 

बुधवार को श्रीलंका दौरे के आखिरी दिन कोलंबो में इमरान खान। वे एक प्रोग्राम में पहुंचे थे। यहां उनके साथ श्रीलंकाई प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे भी मौजूद थे। - Dainik Bhaskar

बुधवार को श्रीलंका दौरे के आखिरी दिन कोलंबो में इमरान खान। वे एक प्रोग्राम में पहुंचे थे। यहां उनके साथ श्रीलंकाई प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे भी मौजूद थे।

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान दो दिन का श्रीलंका दौरा खत्म करके गुरुवार को इस्लामाबाद लौट आए। बुधवार को उन्होंने कोलंबो के एक प्रोग्राम में शिरकत की और यहां भाषण भी दिया। इस भाषण में खान की कही एक बात पर कुछ लोग चुटकी ले रहे हैं। इमरान ने कहा- अमेरिका और चीन के बीच लंबे समय से तनाव चल रहा है। दोनों देशों के बीच इस टेंशन को कम करने में पाकिस्तान मदद करना चाहता है। 50 साल पहले भी हमने यही किया था। अब भी करना चाहते हैं।

पाकिस्तान अपना किरदार निभाना चाहता है
इमरान खान ने कहा- मुझे भरोसा है और मुझे लगता है अमेरिका और चीन के बीच जो तनाव बढ़ रहा है, उसे खत्म करने में पाकिस्तान अहम किरदार निभा सकता है। 50 साल पहले पाकिस्तान ने ही अमेरिका और चीन के बीच रिश्तों की शुरुआत कराई थी। तब हेनरी किसिंजर और चीनी नेताओं की हमने ही बातचीत कराई थी। मुझे लगता है कि यह काम हम फिर कर सकते हैं।

इमरान ने यहां अमन का मसीहा बनने की कोशिश की। अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए खान ने कहा- हम मानवता का संदेश देना चाहते हैं। जिन मुल्कों के बीच आपसी दुश्मनी है, हम उसे खत्म करने में मदद करना चाहते हैं।

14 साल मेरा मजाक उड़ता रहा…
इस कार्यक्रम में इमरान ने अपने क्रिकेटर से सियासतदान बनने के सफर का भी जिक्र किया। कहा- 14 साल पहले मैंने सियासत में उतरने का फैसला किया। कुछ भरोसेमंद नेताओं को लेकर पार्टी बनाई। लोगों ने तब मेरा खूब मजाक उड़ाया। उन्हें लगता था कि मैं इस मैदान में नाकाम रहूंगा। पहली बार में एक ही सीट जीत पाए। आज सरकार चला रहे हैं। इसलिए मुझे लगता है कि नाकामियों से हार नहीं मानना चाहिए। इस कार्यक्रम में श्रीलंका के पूर्व क्रिकेट कप्तान अर्जुन राणातुंगा भी मौजूद थे। इमरान ने उनसे कहा- आप भी सियासत में आ चुके हैं, इसलिए धैर्य रखना सीखिए।

पाकिस्तानी पत्रकार का सवाल
इमरान के श्रीलंका में दिए गए इस भाषण पर कई लोगों ने तंज कसे। पाकिस्तान की मशहूर पत्रकार नायला इनायत ने सोशल मीडिया पर पोस्ट किए गए मैसेज में लिखा- यह वही इमरान खान हैं जिन्होंने सऊदी अरब और ईरान के बीच मध्यस्थता की पेशकश की थी। आप तो जानते ही होंगे कि इसका क्या नतीजा हुआ था।

 

Check Also

मैरी मिलबेन ने संस्कृत श्लोक के माध्यम से दी नए साल की बधाई

वॉशिंगटन : प्रसिद्ध अमेरिकी गायिका मैरी मिलबेन ने भरतीय नववर्ष के अवसर पर भारतीयों को …