हमारा काम सर्वव्यापी और सर्व स्पर्शी होना चाहिए: अरुण कुमार

जयपुर, 19 नवंबर (हि.स.)। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह सरकार्यवाह अरुण कुमार ने कहा कि हमारा काम सर्वव्यापी और सर्वस्पर्शी होना चाहिए। उन्होंने कहा कि परिवार भारतीय संस्कृति का आधार है। परिवार को जोड़ने वाली गतिविधियां निरंतर चलती रहनी चाहिए।

अरुण कुमार जयपुर के केशव विद्यापीठ जामडोली में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के समन्वय वर्ग में विविध संगठनों के कार्यकर्ताओं को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि सभी संगठन स्वतंत्र, समान , स्वायत्त और स्वावलंबी होते हुए भी सभी का लक्ष्य हिंदू विचार के आधार पर नव रचनाएं करते हुए भारत को परम वैभव पर ले जाना है।

उन्होंने कहा कि पांच बिंदुओं स्वदेशी, समरसता, पर्यावरण, परिवार और नागरिक अनुशासन के आधार पर हमें सामाजिक परिवर्तन लाना है। मूल्य आधारित परिवार हो। समरसता युक्त हमारा आचरण और पर्यावरण संरक्षण हमारी जीवन पद्धति होनी चाहिए। समाज परिवर्तन करते हुए व्यवस्था परिवर्तन करना यही काम विविध संगठनों को करना है। उन्होंने कहा कि सामूहिकता, पारदर्शिता, स्वालंबन और तत्वनिष्ठा यही हमारी संस्कृति है।

Check Also

पॉलीग्राफ टेस्ट में हत्यारे आफताब का कबूलनामा, मैंने श्रद्धा को मारा- मुझे कोई मलाल नहीं

दिल्ली के महरौली के विवादित श्रद्धा हत्याकांड में एक बड़ी जानकारी सामने आई है . पॉलीग्राफ टेस्ट के …