संसद में विपक्ष का हंगामा, लोकसभा 4 बजे तो राज्यसभा कल तक स्थिगत

नई दिल्ली:  कांग्रेस और कुछ अन्य विपक्षी दलों के सदस्यों ने तीन केंद्रीय कृषि कानूनों पेगासस जासूस समेत मुद्दों पर गुरुवार को लोकसभा और राज्यसभा में जमकर हंगामा किया जिस कारण दोनों सदनों की कार्रवाई ठीक से नहीं चल पाई। राज्यसभा की कार्रवाई शुक्रवार तक के लिए स्थिगत कर दी गई तो वहीं लोकसभा की कार्रवाई शाम 4 बजे तक हंगामे की भेंट चढ़ गई। विपक्षी दलों के सदस्यों के हंगामे के कारण राज्यसभाऔर लोकसभा की बैठक दो बार स्थगित की गई। राज्यसभा स्पीकर ने विपक्ष को शांत रहने और कार्रवाई चलने का अनुरोध करते रहे लेकिन विपक्ष हंगामा करता रहा, जिसके बाद कार्रवाई को पूरे दिन के लिए स्थिगत कर दिया गया।

SC पहुंचा पेगासस जासूसी मामला, SIT जांच और सॉफ्टवेयर खरीद पर रोक लगाने की मांग

वहीं लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने सुबह कार्रवाई शुरू होने पर सदन में हंगामे के बीच प्रश्नकाल शुरू करवाया। इस दौरान कुछ सदस्यों ने जलशक्ति मंत्रालय से संबंधित पूरक प्रश्न पूछे और जलशक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने उत्तर दिए। कांग्रेस के सदस्यों ने ‘काले कानून वापस लो’ के नारे लगाए। उन्होंने तख्तियां हाथ में ले रखी थीं। इनमें से एक तख्ती पर ‘अन्नदाता का अपमान बंद करो, तीनों कृषि कानून रद्द करो’ लिखा था।

 

सदन में नारेबाजी के बीच अध्यक्ष ओम बिरला ने विपक्षी सदस्यों से अपने स्थान पर जाने और सदन चलने देने की अपील की। उन्होंने कहा कि यह सदन चर्चा और संवाद के लिए है। आपको जनता ने तख्तियां दिखाने और नारेबाजी करने के लिए नहीं भेजा है। आप मुद्दे उठाएं, चर्चा करें और जनता की समस्याओं के समाधान का प्रयास करें। आपको चर्चा करने का पूरा समय मिलेगा।

Check Also

वसूलीबाज सिपाही पर एक्शन:खुलेआम उगाही का वीडियो सामने आया तो SSP ने किया लाइन अटैच; उरला थाना क्षेत्र में ढाबे पर दरबार लगाकर करता था घूसखोरी

ढाबे पर वसूली का दरबार लगाकर घूसखोरी करने वाले कॉन्स्टेबल पर कार्रवाई हुई है। रायपुर …