कोहली की इस हरकत पर भड़के गंभीर सरेआम लगा दी बुरी तरह फटकार

केपटाउन: साउथ अफ्रीका के खिलाफ केपटाउन में खेले जा रहे तीसरे टेस्ट मैच के तीसरे दिन DRS विवाद ने मानों वर्ल्ड क्रिकेट में भूचाल ला दिया. इतना ही नहीं इस पर भारत के कप्तान विराट कोहली के गुस्से ने भी मानों आग में घी का काम किया है. विराट कोहली और टीम इंडिया के कुछ खिलाड़ियों ने साउथ अफ्रीका के टीवी ब्रॉडकास्टर्स पर भी हमला किया है, जिसके बाद पूर्व ओपनर गौतम गंभीर बुरी तरह भड़के हैं.

कोहली की इस हरकत पर भड़के गौतम गंभीर

गौतम गंभीर ने स्टार स्पोर्ट्स से बातचीत करते हुए कहा, ‘कोहली बहुत एममैच्योर हैं. स्टंप्स माइक पर ऐसा कहना किसी भी भारतीय कप्तान के लिए सबसे खराब है. ऐसा करके आप कभी भी युवाओं के आदर्श नहीं बनोगे.’ गौतम गंभीर के इस बयान में सच्चाई भी है, क्योंकि आप इस तरीके का व्यवहार बीच मैच में नहीं कर सकते. आपको अपनी बात कहने का पूरा हक हैं, लेकिन इसके लिए अन्य तरीके हैं.

सरेआम लगा दी बुरी तरह फटकार

गौतम गंभीर के अलावा साउथ अफ्रीका के पूर्व गेंदबाज शॉन पोलाक (Shaun Pollock) ने कहा है कि इंडिया विकेट लेना चाहता था, जिस वजह से उनके इमोशन बाहर निकले. हॉक-आई एक ऐसी चीज है, जिस पर आप निर्णय लेने के लिए निर्भर होते हैं. वो एक स्वतंत्र बॉडी है. उन्हें जो कुछ भी मिलता है, उससे निर्णय लेने में वो अपनी पूरी कोशिश करते हैं. मैं इंडिया टीम की निराशा को समझ सकता हूं, क्योंकि वो विकेट लेना चाहते थे.

क्या था पूरा मामला? 

दरअसल, केपटाउन में खेले जा रहे तीसरे टेस्ट मैच के तीसरे दिन साउथ अफ्रीका की दूसरी पारी के 21वें ओवर में रविचंद्रन अश्विन गेंदबाजी के लिए आए. इस ओवर की चौथी गेंद पर रविचंद्रन अश्विन ने साउथ अफ्रीका के कप्तान डीन एल्गर को LBW आउट कर दिया. फील्ड अंपायर ने भी फैसला भारत के पक्ष में देते हुए डीन एल्गर को LBW आउट दे दिया. इसके बाद जो हुआ वो किसी ने सपने में भी नहीं सोचा होगा.

बल्लेबाज का LBW से बचना लगभग था नामुमकिन

साउथ अफ्रीका के कप्तान डीन एल्गर ने तुरंत DRS रिव्यू ले लिया. इसके बाद जब टीवी रिप्ले में देखा गया तो गेंद विकेट की लाइन में बल्लेबाज के घुटने की नीचे टकराई थी. आमतौर पर ऐसी स्थिति में बल्लेबाज का LBW से बचना लगभग नामुमकिन होता है, लेकिन बॉल ट्रैकिंग के हिसाब से गेंद स्टंप्स को मिस करती हुई विकेट के ऊपर से जा रही थी. इसके बाद थर्ड अंपायर ने डीन एल्गर को नॉट आउट दे दिया.

इसके बाद मैदानी अंपायर मराइस एरासमस को अपना फैसला बदलना पड़ा, लेकिन जब उन्होंने अपना फैसला बदला तो उनके मुंह से निकला, ‘यह असंभव है.’ इस मैच में थर्ड अंपायर की भूमिका में साउथ अफ्रीका के ही अल्लाउद्दीन पालेकर हैं. कोविड के चलते अभी सभी अंपायर घरेलू टीम (साउथ अफ्रीका) के ही हैं.

कोहली के इस रिएक्शन से मच गया बवाल 

थर्ड अंपायर अल्लाउद्दीन पालेकर के इस फैसले के बाद विराट कोहली बेहद गुस्से में नजर आए. विराट कोहली ने अपना पैर जमीन पर पटकते हुए भड़ास निकाली. विराट कोहली और भारतीय खिलाड़ियों का रिएक्शन ये बताने के लिए काफी था कि ये बिल्कुल असंभव था. कमेंट्री कर रहे सुनील गावस्कर ने भी कहा कि ये डीन एल्गर हैं ना कि मार्को जेनसन जो गेंद स्टंप्स के ऊपर से निकल गई. इस घटना के बाद विराट कोहली को ये कहते सुना गया कि पूरा देश भारत के 11 खिलाड़ियों के खिलाफ खेल रहा है.

कोहली बोले- ‘पूरा देश मेरी टीम के खिलाफ खेल रहा है’

विराट कोहली ने स्टंप माइक के पास आकर अपनी निराशा जताते हुए कहा- ‘पूरा देश मेरी टीम के खिलाफ खेल रहा है.’ रविचंद्रन अश्विन ने भी इस पर निराशा जताई और स्टंप माइक पर कहा, ‘आपको जीतने के लिए बेहतर रास्ते अपनाने चाहिए सुपरस्पोर्टस.’ जाहिर है कि विराट कोहली टेक्नॉलोजी पर सवाल उठा रहे थे और दक्षिण अफ्रीका के खेमे पर भी सवाल उठा रहे थे कि ये उनकी टीम के साथ धोखा हो रहा था.

विराट कोहली ने DRS के फैसले के बाद स्टंप माइक के पास आकर बोला था, ‘आप अपनी टीम पर फोकस करें, जब वे गेंद को चमकाते हैं. सिर्फ विपक्षी टीम पर नहीं. लोगों को हमेशा पकड़ने की कोशिश करें.’ केएल राहुल ने कहा था, ‘यह पूरा देश 11 खिलाड़ियों के खिलाफ है.’ वहीं, गेंदबाज आर अश्विन ने कहा था, “मैच जीतने का नया तरीका आपको खोजना चाहिए.’

Check Also

ICC U-19 World Cup: पाकिस्तान के 3 खिलाड़ियों ने जमाई धाक, पहले मैच में जिम्बाब्वे को 115 रनों से दी करारी मात

पाकिस्तान क्रिकेट टीम (Pakistan Cricket Team) ने अपने आईसीसी अंडर-19 विश्व कप (ICC U-19 World Cup) की शुरुआत जीत के …