हे भगवान! भारत में कोरोना वैक्सीन ने बचाई 42 लाख लोगों की जान

कोरोनावायरस को नियंत्रित करने के लिए बनाई गई वैक्सीन भारत के साथ-साथ अन्य देशों के लिए भी जीवन रक्षक साबित हुई है। वैक्सीन ने जहां भारत में 42 लाख से अधिक लोगों की जान बचाई है, वहीं इसने दुनिया भर में 20 मिलियन से अधिक मौतों को रोका है। यह लैंसेट स्टडी जर्नल के दिसंबर 2020 से दिसंबर 2021 तक के आंकड़ों के मुताबिक है। शोधकर्ताओं ने कहा कि कोरोना से दुनिया भर में 3.14 मिलियन लोगों की मौत का अनुमान लगाया गया था, लेकिन टीकाकरण ने 1.98 मिलियन लोगों की जान बचाई।

अध्ययन का अनुमान है कि यदि विश्व स्वास्थ्य संगठन का 2021 के अंत तक दो या अधिक खुराक के साथ प्रत्येक देश में 40 प्रतिशत आबादी का टीकाकरण करने का लक्ष्य पूरा किया गया होता तो अन्य 5,99,300 लोगों की जान बचाई जा सकती थी।

अध्ययन के प्रमुख लेखक ओलिवर वाट्स ने कहा, “भारत के लिए, हमारा अनुमान है कि इस अवधि के दौरान टीकाकरण से 4.2 मिलियन से अधिक मौतों को रोका गया।” अध्ययन से पता चलता है कि भारत में टीकाकरण अभियानों ने लाखों लोगों की जान बचाई है। यह टीकाकरण के महत्वपूर्ण प्रभाव को दर्शाता है, विशेष रूप से भारत में, जो डेल्टा संस्करण के प्रभावों का अनुभव करने वाला पहला देश था।

लैंसेट स्टडी के मुताबिक, भारत में कोरोना महामारी के दौरान 51 लाख से ज्यादा लोगों की मौत होने का अनुमान लगाया गया था, लेकिन लाखों लोगों की जान कोरोना टीकाकरण से बच गई। उल्लेखनीय है कि भारत में महामारी की शुरुआत से अब तक 5,24,941 लोगों की मौत हो चुकी है। यानी टीकाकरण इतना कारगर साबित हुआ कि 10 गुना कम लोगों की मौत हुई।

Check Also

तालिबान कमांडर दुलहन को हेलीकॉप्टर से घर ले जाता है – रिपोर्ट

विवरण सामने आया है कि तालिबान कमांडर ने दुल्हन को घर पहुंचाने के लिए एक …