महाविद्यालय कर्णप्रयाग का एनएसएस का शिविर सांस्कृतिक कार्यक्रम के साथ हुआ

गोपेश्वर, 03 फरवरी (हि.स.)। चमोली जिले के कर्णप्रयाग महाविद्यालय की ओर से उमट्टा में आयोजित एनएसएस का सात दिवसीय शिविर शनिवार को सांस्कृतिक कार्यक्रम के साथ हो गया है। सावन को आलराउंडर स्वयं सेवी के पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

समापन समारोह के अवसर पर बतौर मुख्य अतिथि पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष गौचर मुकेश नेगी ने शिविरार्थियों को संबोधित करते हुए कहा कि शिविर अवधि में प्राप्त अनुभव और ज्ञान को अपने व्यावहारिक जीवन में उतारें और एक जिम्मेदार नागरिक बनें।

प्राचार्य प्रो. केएल तलवाड़ ने कहा कि एनएसएस का मुख्य उद्देश्य समाज सेवा के माध्यम से विद्यार्थियों के व्यक्तित्व का विकास करना है। वरिष्ठ कार्यक्रम अधिकारी डा.चन्द्रावती टम्टा ने बताया कि सात दिवसीय शिविर में शिविर स्थल का सौंदर्यीकरण, आर्थिक सर्वेक्षण, स्वच्छता, पेयजल स्रोतों की सफाई, बौद्धिक कार्यक्रम एवं जनजागरण रैली आयोजित की गई। एनसीसी के जिला समन्वयक जगदीश टम्टा ने शिविर का निरीक्षण कर कार्यों की सराहना की।

कार्यक्रम में सलोनी और अंशुल को सर्वश्रेष्ठ स्वयंसेवी तथा राहुल और संध्या को सर्वश्रेष्ठ सांस्कृतिक कलाकार के रूप में पुरस्कृत किया गया।

इस अवसर पर कार्यक्रम अधिकारी डा.हिना नौटियाल, डा.चंद्रमोहन जनस्वाण, विद्यालय के प्रधानाचार्य पुष्कर कोहली, रेखा डिमरी, बबीता डिमरी, हरीश चैहान, छात्र संघ के पूर्व विश्वविद्यालय प्रतिनिधि दीपक रावत,छात्र संघ अध्यक्ष प्रीतम सिंह, आयुष नेगी, सलोनी, उमेश पुरोहित, विपिन, बद्रीश, हरपाल आदि मौजूद थे।