अब सामने आएगा पीएम मोदी की सुरक्षा में चूक का सच! SC ने किया इस जांच टीम का गठन

नई दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने पंजाब में पीएम नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में चूक के (PM Narendra Modi Modi Security Breach) मामले में 5 सदस्यीय जांच टीम का गठन किया है. सुप्रीम कोर्ट की पूर्व जस्टिस इंदु मल्होत्रा के नेतृत्व में गठित टीम को निर्देश दिया गया है कि वह जल्द से जल्द जांच पूरी कर अपनी रिपोर्ट कोर्ट में पेश करे.

चूक मामले की जांच करेगी टीम

चीफ जस्टिस एनवी रमण, जस्टिस सूर्यकांत और जस्टिस हिमा कोहली ने बुधवार को पीएम की सुरक्षा चूक मामले की सुनवाई की. इस दौरान मामले की जांच के लिए 5 सदस्यीय टीम के गठन का आदेश देते हुए बैंच (Supreme Court) ने कहा कि वह प्रकरण के सभी बिंदुओं पर गहराई से इन्वेस्टिगेशन करेगी. जांच टीम इस बात का पता लगाएगी कि सुरक्षा उल्लंघन के लिए कौन-कौन लोग जिम्मेदार हैं और उन पर क्या कार्रवाई हो सकती है. इसके साथ ही जांच टीम भविष्य में संवैधानिक पदों पर बैठे लोगों की सुरक्षा को पुख्ता करने पर भी अपने सुझाव देगी.

SC ने 5 सदस्यीय टीम का किया गठन

सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने जिस 5 सदस्यीय जांच टीम का गठन किया है. उसमें जस्टिस इंदु मल्होत्रा के अलावा NIA के आईजी, चंडीगढ़ के डीजीपी, पंजाब-हरियाणा हाई कोर्ट के रजिस्ट्रार जनरल और पंजाब के एडीजीपी (सिक्योरिटी) भी शामिल हैं. इस दौरान कोर्ट ने केंद्र और पंजाब सरकार को नसीहत भी दी. कोर्ट ने कहा कि आपसी वाकयुद्ध से मामले का कोई समाधान नहीं निकलेगा. इसके बजाय मामले की तह में जाकर उसका समाधान ढूंढना होगा.

 

5 जनवरी को फंसा था पीएम मोदी का काफिला 

बताते चलें कि पीएम नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) एक रैली में शामिल होने के लिए 5 जनवरी को पंजाब के फिरोजपुर में जा रहे थे. उसी दौरान किसानों के एक समूह ने उनके आगमन की सूचना मिलने पर हाईवे जाम (PM Narendra Modi Modi Security Breach) कर दिया. जिसके चलते पीएम मोदी का काफिला करीब 20 मिनट तक एक फ्लाई ओवर पर फंसा रहा. जब किसानों ने रास्ता खाली नहीं किया तो पीएम मोदी का काफिला वहां से वापस एयरपोर्ट लौट गया. इस मामले को पीएम की सुरक्षा में चूक माना जा रहा है.

Check Also

Omicron sub-variant: ओमिक्रॉन का नया स्ट्रेन BA.2 कितना है खतरनाक? भारत में मिले 530 सैंपल्स, लोगों की बढ़ी चिंता

भारत समेत दुनियाभर के कई देश कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन से जूझ रहे हैं. …