अब जनता चुनेगी मेयर-उपमेयर तो कौन बनेगा बिहार के चर्चित शहर का सरताज

बेगूसराय, 14 जनवरी (हि.स.)। बिहार में धनबल और बाहुबल के आधार पर नगर निकाय में मेयर, उप मेयर, मुख्य पार्षद और उप मुख्य पार्षद बनने का समय समाप्त हो गया। नगर पालिका अधिनियम में संशोधन करते हुए अधिसूचना जारी की गई है, जिसके अनुसार अब मेयर और उप मेयर को नगर पार्षद नहीं, बल्कि आम जनता अपने वोट से चुनेंगे। मतदाताओं को एक साथ तीन पदों के लिए मतदान करना होगा, नगरवासी अब केवल वार्ड पार्षद ही नहीं, अपने वोट की ताकत से मेयर और उप मेयर का चुनाव करेंगे।

अधिसूचना जारी होने के बाद राजनीतिक दृष्टिकोण से बिहार के हॉटस्पॉट बेगूसराय में सरगर्मी काफी तेज हो गई है। 45 वार्ड वाले बेगूसराय नगर निगम में भी अप्रैल-मई में चुनाव होना है तथा करीब ढ़ाई लाख मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे। बिहार की औद्योगिक राजधानी के जिला मुख्यालय बेगूसराय में कई बड़ी परियोजना चल रही है, निकट भविष्य में कई और बड़ी परियोजनाएं प्रस्तावित हैं। जिसके कारण धनबली, बाहुबली एवं जरायम की दुनिया से जुड़े लोगों के नाम की चर्चा होने लगी है। यह चुनाव दलीय आधार पर नहीं होगा, लेकिन प्रत्याशी वही होंगे, जिन्हें विभिन्न राजनीतिक दलों का नेतृत्व चाहेगा। बिहार राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा अभी चुनाव की तारीख की घोषणा नहीं की गई है लेकिन महापौर पद के लिए करीब 15 दावेदार सामने आ चुके हैं। हालत यह है कि नगर पार्षद का चुनाव लड़ने वाले तथा बुरी तरह से हारने वाले भी मेयर पद की दावेदारी दे रहे हैं। मेयर पद के लिए तक सामने आए चेहरे की बात करें तो निवर्तमान मेयर उपेंद्र प्रसाद सिंह, पूर्व मेयर और जदयू के मुख्य प्रवक्ता संजय कुमार, भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष संजय सिंह, सांसद प्रतिनिधि अमरेंद्र कुमार अमर, गंगा डेयरी के प्रबंध निदेशक अखिलेश कुमार, पूर्व मुख्य पार्षद पुष्पा शर्मा के पति अभय कुमार सिंह उर्फ ढ़प्पू सिंह, पूर्व विधायक बोगो सिंह के भाई संजीव कुमार, पूर्व नगर पार्षद रंजीत दास, चर्चित दलित नेता नगर पार्षद दासो पासवान, जदयू नेता जितेंद्र कुमार जीबू, बेगूसराय को-ऑपरेटिव बैंक के पूर्व अध्यक्ष और अलका सिनेमा हॉल के मालिक कमल किशोर सिंह, पूर्व सांसद डॉ. भोला सिंह के पौत्र मनीष कुमार, भाजपा के पूर्व जिला महामंत्री कौशल किशोर वर्मा, जदयू नेता और दवा कारोबारी अशोक मेहता, जाप नेता बंकेश कुमार आदि के नाम सामने आ चुके हैं। अभी समय शेष है तथा राजनीति में पल-पल की हालत बदलती रही है, कब कौन किसके साथ हो जाए यह कहना मुश्किल है। ऐसी हालत में मेयर पद के लिए दावेदारों की सूची और लंबी होगी, लेकिन उपरोक्त में से कुछ नाम हट भी सकते हैं।

चर्चा करें उप मेयर पद की तो दो बार से उप मेयर रहे राजीव रंजन मेयर पद की ओर भी तांक-झांक कर रहे हैं, लेकिन उप मेयर के पद पर चुनाव लड़ना निश्चित है। पूर्व पार्षद रह चुके जदयू नेता जवाहरलाल भारद्वाज भी उप मेयर पद के प्रबल दावेदार हैं। इस पद के लिए भाजपा नेत्री सह पूर्व नगर पार्षद अनिता राय, लोजपा नेत्री निशा कुमारी एवं राजीव झा का भी नाम सामने आ रहा है। हालांकि जिला भाजपा के मीडिया प्रभारी सुमित सन्नी भी उप मेयर पद का चुनाव लड़कर लोगों को अचंभित कर सकते हैं। अभी उन्होंने पत्ता नहीं खोला है, लेकिन संभावना है कि उपेंद्र प्रसाद सिंह मेयर का चुनाव नहीं लड़ेंगे, ऐसी हालत में सुमित सन्नी उप मेयर का चुनाव लड़ सकते हैं। फिलहाल सरकार द्वारा प्रत्यक्ष रूप से चुनाव के माध्यम से मेयर और उप मेयर के चुनाव की अधिसूचना जारी होने के बीच यह सब नाम अब तक उभर कर सामने आ गए हैं। लेकिन कई लोग ऐसे भी हैं जो अब तक पर्दे के पीछे रहकर जोरदार तैयारी कर रहे हैं और अंतिम समय में अपना पता खोलेंगे।

Check Also

सहनी को उनके ही MLA ने दिया करारा जवाब:बोले- मेरा राजनीतिक आधार लालूवाद का विरोध, तेजस्वी से विचारधारा मिला रहे सहनी के लिए झटका

पटना10 मिनट पहले कॉपी लिंक VIP प्रमुख मुकेश सहनी के राजद प्रेम को उनकी अपनी …