अब 43 मीटर ऊंचे जीसस क्राइस्ट:ब्राजील दुनिया का पहला देश, जहां सात अजूबों में शामिल क्राइस्ट रिडीमर की दूसरी प्रतिमा बन रही

ब्राजील के एनकांटाडो जिले में जीसस क्राइस्ट की 43 मीटर ऊंची प्रतिमा बनाई जा रही है। - Dainik Bhaskar

ब्राजील के एनकांटाडो जिले में जीसस क्राइस्ट की 43 मीटर ऊंची प्रतिमा बनाई जा रही है।

ब्राजील दुनिया का पहला देश है, जो सात अजूबों में शामिल किसी प्रतिमा से भी ऊंची प्रतिमा बना रहा है। दरअसल, ब्राजील के एनकांटाडो जिले में जीसस क्राइस्ट की 43 मीटर ऊंची प्रतिमा बनाई जा रही है। यह रियो स्थित 30 मीटर ऊंची क्राइस्ट द रिडीमर स्टेच्यू से 13 मीटर ऊंची होगी। रविवार को इसके 28 मीटर चौड़ाई के दोनों हाथों का निर्माण पूरा हुआ। इस प्रतिमा का निर्माण 2019 में शुरू हुआ था, जिसे अक्टूबर में क्राइस्ट द रिडीमर स्टेच्यू के 90वें जन्मदिन से पहले पूरा कर लिया जाएगा।

रियो स्थित 30 मीटर ऊंची क्राइस्ट द रिडीमर स्टेच्यू से 13 मीटर ऊंची होगी नई प्रतिमा।

रियो स्थित 30 मीटर ऊंची क्राइस्ट द रिडीमर स्टेच्यू से 13 मीटर ऊंची होगी नई प्रतिमा।

निर्माण में 2.61 करोड़ रुपए खर्च होने का अनुमान
एसोसिएशन ऑफ फ्रेंड्स ऑफ क्राइस्ट ने बताया कि इसके निर्माण में 2.61 करोड़ रुपए खर्च होने का अनुमान है। प्रोजेक्ट की पूरी राशि डोनेशन से मिली है। मालूम हो कि क्राइस्ट द रिडीमर की प्रतिमा को ईसाई धर्म का एक वैश्विक प्रतीक माना जाता है। इसे देखने के लिए दुनियाभर से लाखों लोग पहुंचते हैं। इससे रियो डी जेनेरियो शहर का पर्यटन भी चलता है।

 

खबरें और भी हैं…

Check Also

पाकिस्तान के लोगों को इजरायल जाने की इजाजत नहीं, पासपोर्ट पर है ये चेतावनी, जानिए क्यों

नई दिल्लीः इजरायल और फिलिस्तीन के बीच चल रहे खूनी खेल के छींटे इतिहास में दर्ज …