नीरव मोदी ने ब्रिटेन के सुप्रीम कोर्ट में प्रत्यर्पण के खिलाफ अपील करने की अनुमति मांगी

भगोड़े हीरा कारोबारी नीरव मोदी ने लंदन हाई कोर्ट में याचिका दायर कर भारत को अपने प्रत्यर्पण के आदेश के खिलाफ ब्रिटेन के सुप्रीम कोर्ट में अपील करने की इजाजत मांगी है.

लंदन उच्च न्यायालय ने हाल ही में पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) ऋण घोटाला मामले में लगभग दो बिलियन डॉलर की धोखाधड़ी और मनी लॉन्ड्रिंग के आरोपों का सामना करने के लिए नीरव मोदी को भारत प्रत्यर्पित करने का आदेश दिया था।

51 साल का नीरव मोदी इस वक्त लंदन की वैंड्सवर्थ जेल में कैद है। उसके पास जनहित से संबंधित कानून के बिंदु पर अपील दायर करने के लिए दो सप्ताह का समय है।

ब्रिटेन के गृह मंत्रालय से जुड़े सूत्रों के मुताबिक, नीरव मोदी को भारत प्रत्यर्पित करने की राह में अभी भी कई बाधाएं हैं.

भारतीय अधिकारियों की ओर से काम कर रही क्राउन प्रॉसिक्यूशन सर्विस (सीपीसी) अब नीरव मोदी की नई याचिका पर जवाब देने की तैयारी कर रही है। इसके बाद उच्च न्यायालय के न्यायाधीश एक लिखित निर्णय जारी करेंगे।

Check Also

Ukraine Russia war : रूस के दो हवाई अड्डों पर यूक्रेन का ड्रोन हमला; तीन जवानों की मौत, कई घायल

यूक्रेन: सोमवार को यूक्रेन के ड्रोन विमानों ने रूस के दो सबसे सुरक्षित हवाई अड्डों …