भारी बिकवाली से निफ्टी 18,200 के नीचे फिसल गया

कमजोर वैश्विक बाजारों और भारी घरेलू बिकवाली के चलते भारतीय शेयर बाजारों में लगातार दूसरे दिन गिरावट दर्ज की गई। खास तौर पर हैवीवेट शेयरों में बिकवाली का अधिक दबाव देखा गया, जिससे निफ्टी 18,200 से नीचे गिर गया। बीएसई सेंसेक्स दिन के अंत में 372 अंकों की गिरावट के साथ 61,561 पर बंद हुआ। इसी तरह एनएसई निफ्टी 105 अंक गिरकर 18,182 पर बंद हुआ।

शीर्ष लाभार्थी (एनएसई)

कंपनी समापन मूल्य (रु।) बढ़ोतरी (%)
हीरो मोटोकॉर्प 2722.95 1.38
इंडसइंड बैंक 1236.15 1.30
आईटीसी 427.60 0.86
यूपीएल  677.80 0.74
बीपीसीएल 364.75 0.68

भारी वजन वाले शेयरों के मामले में, कोटक महिंद्रा बैंक, अपोलो हॉस्पिटल्स, एसबीआई लाइफ इंश्योरेंस, टीसीएस और एचसीएल टेक्नोलॉजीज शीर्ष हारने वाले थे। हीरो मोटोकॉर्प, इंडसइंड बैंक, आईटीसी, यूपीएल और बीपीसीएल के शेयरों में तेजी रही। बाजार के जानकारों का कहना है कि अमेरिका में बैंक संकट और कर्ज की बिगड़ती स्थिति के कारण वैश्विक बाजारों में सुस्ती आई है। इससे भारत में भी बिकवाली का दबाव देखा गया। 

शीर्ष हारने वाले (एनएसई)

कंपनी  समापन मूल्य (रु।) घटाना (%)
कोटक महिंद्रा बैंक 1909.15 1.95
अपोलो अस्पताल  4482.15 1.60
एसबीआई लाइफ इंश्योरेंस 1162.60 1.54
टीसीएस 3208.70 1.52
एचसीएल टेक्नोलॉजीज 1074.55 1.48

जियोजित फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा कि कमजोर वैश्विक धारणा के जवाब में घरेलू निवेशक सतर्क रहे क्योंकि अमेरिकी बाजार में मंदी के संकेत दिख रहे थे, हाल के आर्थिक आंकड़ों में मंदी दिख रही थी। अप्रैल के लिए अमेरिकी खुदरा बिक्री के आंकड़ों ने मांग में मंदी दिखाई और कर्ज की सीमा पर चल रही बातचीत ने बाजार की धारणा को और प्रभावित किया।

Check Also

आरबीआई की एमपीसी बैठक मंगलवार से, ब्याज दर में बदलाव की गुंजाइश कम

नई दिल्ली, 04 जून (हि.स.)। रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) की मौद्रिक नीति समिति (एमपीसी) …