लखनऊ पुलिस ने लखनऊ के निधि गुप्ता हत्याकांड में फरार इनामी आरोपी सूफिया को एनकाउंटर के बाद गिरफ्तार कर लिया है. दबग्गा इलाके में लखनऊ पुलिस की सूफियान से भिड़ंत हो गई। इस मुठभेड़ में सुफियान के पैर में गोली लगी थी. जिससे वह घायल हो गया। गिरफ्तार करने के बाद पुलिस उसे इलाज के लिए अस्पताल ले गई। सूफियान पर जबरन धर्मांतरण और निधि की हत्या का आरोप है। निधि की हत्या के आरोपी सुफियान पर लखनऊ पुलिस कमिश्नरेट ने 25 हजार का इनाम घोषित किया था. पीड़ित परिवार ने आरोपितों पर सूफिया को छत से नीचे फेंकने का आरोप लगाया है।

निधि गुप्ता की मौत के बाद लखनऊ पुलिस सुफियान की गिरफ्तारी के लिए लगातार छापेमारी कर रही थी. सूफियान के पीछे लखनऊ पुलिस की आधा दर्जन से ज्यादा टीमें लगी हुई थीं। सुफियान के फोन की आखिरी लोकेशन सर्विलांस के दौरान चौक में मिली थी। और एक टीम दिल्ली भेजी गई। इसी दौरान दबग्गा इलाके में उसकी लोकेशन मिलने के बाद टीम वहां पहुंची। जहां पुलिस टीम की सूफियान से भिड़ंत हो गई।

सूफियान की जानकारी के लिए नंबर जारी किए गए थे

पुलिस कमिश्नरेट लखनऊ ने बताया कि आरोपी सूफियान के बारे में सूचना देने वाले को धारा 302 व 3/5(1) के तहत 25 हजार रुपये का इनाम दिया जाएगा. इसके लिए लखनऊ पुलिस कमिश्नरेट की ओर से नंबर भी जारी किए गए थे। पुलिस उपायुक्त पश्चिम 9454400509, अपर पुलिस आयुक्त पश्चिम 9454401088, सहायक पुलिस आयुक्त काकोरी 9454401492 व प्रभारी निरीक्षक थाना दबग्गा 9454405156 को जानकारी देने को कहा गया.

क्या थी पूरी घटना?

लखनऊ के दुबग्गा इलाके की डूडा कॉलोनी में 15 नवंबर को निधि गुप्ता नाम की युवती की चौथी मंजिल से गिरकर इलाज के दौरान मौत हो गई थी. मृतक के परिजनों का आरोप है कि सूफिया को छत से फेंका गया था। इसको लेकर बुधवार को जमकर हंगामा हुआ। इसी बीच सुफियान और निधि के बीच चल रहा प्रेम प्रसंग भी सामने आया है। घटना के बाद से सूफियान फरार चल रहा था। वहीं मृतक की मां की तहरीर पर सुफियान के खिलाफ मामला दर्ज कर पुलिस उसकी तलाश कर रही थी.