गुरुग्राम नगर निगम के रेशनेलाइजेशन की जरूरत: अनिल विज

गुरुग्राम, 22 जुलाई (हि.स.)। प्रदेश के गृह एवं स्थानीय निकाय मंत्री अनिल विज ने बुधवार को कहा कि गुरुग्राम नगर निगम में बहुत अधिक सुधार की जरूरत है। यहां के स्टाफ के रेशनेलाइजेशन की जरूरत है। आज देखने में आया कि स्टाफ खाली बैठा है। उसके पास कोई काम ही नहीं है। इसलिए उन्होंने नगर निगम स्टाफ के रेशनेलाइजेशन को कहा है। यह बात उन्होंने बुधवार को यहां सेक्टर-34 स्थित नगर निगम गुरुग्राम के कार्यालय में भ्रष्टाचार की शिकायतों के मद्देनजर छापेमारी के बाद मीडिया से बातचीत में कही।

अनिल विज ने कहा कि इतना बड़ी यह बॉडी है और इसमें किसी तरह का कोई मूवमेंट रजिस्टर तक नहीं है। यानी यहां पर खुले आम कोई आए और कोई जाए। उन्होंने कहा कि अपने कार्यालय से बिना किसी ठोस कारण के दो एसडीओ राकेश शर्मा व कुलदीप यादव को निलंबित किया है। साथ ही एक चीफ इंजीनियर धर्मबीर मलिक को रिलीव किया है। अनिल विज ने आगे कहा कि गत समय में एक जांच हुई थी, जिसमें करोड़ों का घपला उजागर हुआ है। उसकी एफआईआर के आदेश दे दिए गए हैं।

 

साथ ही अनिल विज ने नगर निगम गुरुग्राम के कर्मचारियों की कार्य रिपोर्ट भी मांगी है। जिससे पता चले कि कौन क्या काम कर रहा है। सभी कर्मचारी अपने अधिकारियों से, अथॉरिटी से अपनी रिपोर्ट वेरिफाई कराकर उन्हें भेजेंगे। शहर में बरसात के जलभराव को लेकर भी अनिल विज ने नाराजगी जताई है। इसके लिए उन्होंने कहा कि जल्द ही एक कमेटी बनाएंगे, जो कि यहां से जल निकासी का प्लान तैयार करेगी।

हिन्दुस्थान समाचार

Check Also

Viral News: दूल्हे ने दहेज में मांगा 21 नाखूनों वाला कछुआ और काला कुत्ता, केस दर्ज

औरंगाबाद: दहेज (Dowry) में रुपये, गहने, गाड़ी और महंगे गिफ्ट मांगने के बारे में आपने कई …