संजय दत्त (Sanjay Dutt) की मां नरगिस दत्त (Nargis Dutt ) बीते ज़माने की सबसे खूबसूरत और पढ़ी लिखी अभिनेत्रियों में से एक मानी जाती थीं। नरगिस ने बतौर चाइल्ड आर्टिस्ट अपने करियर की शुरुआत की थी जिसमें उनके रोल को खूब पसंद किया गया। नरगिस का फिल्मी सफर बहुत ही छोटा था लेकिन इतने कम समय में उन्होंने अपनी दमदार एक्टिंग से लोगों के दिलों में जबरदस्त छाप छोड़ी। यहां तक की 1940 से 1960 के दशक में नर्गिस को बॉलीवुड की मोस्ट फेवरेट एक्ट्रेस भी कहा जाने लगा था।

 

 

 

 

नरगिस दत्त की आज 40वीं पुण्यतिथि है। आज ही के दिन साल 1981 में नरगिस का निधन हुआ था। बॉलीवुड की कुछ सफल और फेमस लव स्टोरी में से एक नरगिस और सुनील दत्त की स्टोरी भी मानी जाती है। कहा जाता है कि मेहबूब खान की फिल्म ‘मदर इंडिया’ में साथ काम करने दौरान ही सुनील दत्त और नरगिस के प्यार की शुरुआत हुई थी।इसके बाद 11 मार्च 1958 को दोनों ने शादी कर ली। तो चलिए आज हम आपको सुनील दत्त और नरगिस से जुड़ा एक रोचक किस्सा बताते हैं, जब नरगिस इस वजह से नहीं पहनती थीं पति सुनील दत्त की दी हुई साड़ियां।

 

ये बात तो किसी से छिपी नहीं है कि, सुनील दत्त नरगिस को काफी शिद्दत से चाहते थे और साथ ही वो उनकी बहुत इज्जत भी करते थे। शादी से पहले ही सुनील दत्त नरगिस की पसंद, ना पसंद जान चुके थे। सुनील दत्त को मालूम था कि नरगिस को साड़ियों का भी बहुत शौक है। वह नई-नई साड़ियों का कलेक्शन जमा करती हैं। शादी के बाद सुनील दत्त उनकी पसंद का खूब ख्याल रखते थे। उन्हें खुश करने का कोई मौका नहीं छोड़ते थे। सुनील दत्त जब भी शूटिंग के लिए बाहर जाते थे तो वहां से नरगिस के लिए तरह-तरह की साड़ियां लेकर आते थे। नरगिस भी काफी खुश होती थीं।

 

कुछ समय बाद सुनील को यह एहसास हुआ कि नरगिस उनकी लाई हुई साड़ियां नहीं पहनतीं। सुनील ने इसकी वजह जानने के लिए नरगिस से बात की कि आखिर क्यों वो उनकी लाई हुई साड़ियां नहीं पहनतीं? पहले तो नरगिस ने उनकी बात को टाल दिया लेकिन ज्यादा पूछने पर उन्होंने बताया कि उन्हें सुनील द्वारा लाई  हुई साड़ियां अधिक्तर उन्हें पसंद नहीं आती थीं, किसी का पैर्टन अच्छा नहीं लगा तो किसी का कलर अच्छा नहीं था। इसके बावजूद नरगिस सुनील दत्त द्वारा गिफ्ट की गईं सैंकड़ों साड़ियों की तारीफ करती थीं।

 

नरगिस की ये बात सुनकर सुनील को बुरा लगा कि उनकी प्यार से लाई हुई साड़ियों को वो नहीं पहनतीं। इसपर नरगिस ने उन्हें बताया कि वो भले ही उनकी लाई साड़ियों को पहनती नहीं हों लेकिन उन्होंने सभी साड़ियों को संभाल कर रखा है। सुनील दत्त पहले तो बहुत दुखी हुए पर बाद में ये सोच कर हंस दिए कि कम-कम से सारे तोहफे संभालकर तो रखे हैं।

 

 

 

मालूम हो कि साल 1957 में रिलीज हुई फिल्म मदर इंडिया में नरगिस ने सुनील दत्त की मां का रोल प्ले किया था। बताया जाता है कि फिल्म की शूटिंग के दौरान सेट पर आग लग गई थी और सुनील ने उन्हें बचाया, लेकिन वो खुद जख्मी हो गए और कई दिनों तक अस्पताल में भर्ती रहे। इस दौरान नरगिस ने उनका ख्याल रखा और दोनों एक दूसरे को पसंद करने लगे, जिसके बाद साल 1958 में दोनों शादी के बंधन में बंध गए।

 

 

नरगिस मुस्लिम परिवार में जन्मीं थीं और उनका असली नाम फातिमा राशिद था। उन्होंने शादी के लिए हिंदू धर्म अपनाया। नरगिस और सुनील दत्त के तीन बच्चे हैं संजय दत्त, नम्रता दत्त और प्रिया दत्त।