मुरैनाः हाईस्कूल की शांतिपूर्ण तरीके से परीक्षा शुरू, पहले दिन नकल माफियाओं के मंसूबे ध्वस्त

मुरैना, 5 फरवरी (हि.स.)। माध्यमिक शिक्षा मण्डल द्वारा आयोजित हाईस्कूल की परीक्षा सोमवार से प्रारंभ हुई। पहला पेपर हिन्दी का सुबह नौ से 12 बजे के बीच पूर्णत: शांति और सुरक्षा व्यवस्थाओं के बीच संपन्न हुआ। जिला प्रशासन द्वारा नकल विरोधी अभियान के तहत बनाई गई योजना से माफियाओं की मंसूबे ध्वस्त हो गये। पहले दिन जिले में 29 हजार 651 परीक्षार्थियों ने हिन्दी का पेपर दिया, जबकि 1039 परीक्षार्थी अनुपस्थित रहे।

हाईस्कूल की परीक्षा जिले के 74 परीक्षा केन्द्रों पर सोमवार को शुरू हुई। इस दौरान नकल होने की सूचना प्राथमिक रूप से प्राप्त नहीं हुई है। कलेक्टर अंकित अस्थाना एवं पुलिस अधीक्षक शैलेन्द्र चौहान द्वारा बानमोर क्षेत्र के तीन से चार परीक्षा केन्द्रों का बारीकी से निरीक्षण किया गया। इस अवसर पर जिला शिक्षा अधिकारी अनिल कुमार पाठक भी उनके साथ थे। जिले के प्रशासन, पुलिस व शिक्षाधिकारियों सहित अन्य विभागीय अधिकारियों को शांतिपूर्ण परीक्षा कराने के लिये योजना के तहत नियुक्त किया गया था। नकल रोकने के लिये गठित दलों द्वारा समय-समय पर आकस्मिक भ्रमण कर जांच की गई।

मध्यप्रदेश शासन के निर्देशानुसार परीक्षा केन्द्रों को मोबाइलविहीन रखकर पेपर के लिफाफे अंतिम समय में कक्ष में खोले गये। जिससे परीक्षा के पहले दिन गोपनीयता भंग नहीं हुई। प्रशासन द्वारा मुरैना जिले में 74 परीक्षा केन्द्र निर्मित किये गये इन पर हाईस्कूल के 30690 परीक्षार्थियों को हिन्दी विषय का पेपर पूर्ण करना था, लेकिन 29651 परीक्षार्थी ही उपस्थित रहे।

जिला शिक्षा अधिकारी अनिल कुमार पाठक ने बताया कि शासन के निर्देशानुसार स्वतंत्र एवं निष्पक्ष रूप से हाईस्कूल की परीक्षा का शुभारंभ हुआ है। आकस्मिक भ्रमण के लिये दो दर्जन से अधिक गठित दलों द्वारा परीक्षा केन्द्रों का निरंतर भ्रमण किया गया। जिससे नकल की सूचना नहीं है। जिले में शांतिपूर्ण परीक्षा का शुभारंभ हुआ है। वहीं कैलारस ब्लॉक शिक्षा केन्द्र के अन्तर्गत हाईस्कूल हिंदी विषय की परीक्षा में नियमित तथा स्वाध्यायी परीक्षार्थियों 7 परीक्षा केन्दों पर परीक्षा दी। कैलारस विकास खण्ड के अन्तर्गत हाईस्कूल परीक्षा में 3031 में से 2972 परीक्षार्थी उपस्थित थे जबकि 59 अनुपस्थिति रहे।

जिला शिक्षा अधिकारी अनिल कुमार पाठक, विकास खण्ड शिक्षा अधिकारी देवेंद्र हरदेनिया, बीआरसी अनिल त्रिवेदी, तहसीलदार विश्राम सिंह बघेल ने परीक्षा केन्द्रों का लगातार भ्रमण किया।