मजे से कटेगा बुढ़ापा, दूर होगी पैसे की टेंशन, बस 7 रुपये हर दिन बचा लिए तो मिलेगी 5000 रुपये पेंशन

पैसों की जरूरत भला किसे नहीं होती… जिंदगी के हर पड़ाव पर लोगों को पैसे चाहिए होते हैं. सबसे ज्यादा चिंता बुढ़ापे को लेकर होती है. बुढ़ापे की यह टेंशन पेंशन से दूर हो जाती है. लेकिन अगर सरकारी नौकरी में न हों तो पेंशन कैसे मिलेगा! चिंता की बात नहीं है, आपके लिए सरकार की एक शानदार स्कीम है-अटल पेंशन योजना (Atal Pension Scheme), जो बुढ़ापे में आपका साथ निभाएगी.

बस इसके लिए आपको अभी से निवेश करने की तैयारी शुरू कर देनी है. आपको जानकर आश्चर्य हो सकता है कि इस योजना के लिए आपको महज 7 रुपये हर दिन बचाने हैं और इसी मामूली बचत से आपको बुढ़ापे में हर महीने 5,000 रुपये पेंशन मिलेगी. इस योजना की शुरुआत केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार (Narendra Modi Govt.) ने 1 जून 2015 को की थी.

इस योजना के अंतर्गत लाभुकों को 60 वर्ष की आयु होने के बाद 1,000 रुपये से लेकर 5,000 रुपये तक की रकम पेंशन के रूप में दी जाएगी. पेंशन की रकम निवेश करने वाले की उम्र और राशि के हिसाब से निर्धारित होगी. इस स्कीम में लाभुक कम राशि जमा करवाकर हर माह ज्यादा पेंशन के हकदार हो सकते हैं और साथ ही दुर्भाग्यवश असामयिक मृत्यु की दशा में अपने परिवार को इसका फायदा मिलता है.

क्या है निवेश के नियम और शर्त?

इस योजना का लाभ लेने लेने के लिए सेविंग बैंक अकाउंट या पोस्ट ऑफिस सेविंग अकाउंट होना अनिवार्य है. वहीं, जो लोग इनकम टैक्सपेयर्स हैं या सरकारी नौकरी वाले हैं, वे इस योजना का लाभ नहीं उठा सकते हैं. आवेदन करने के लिए लाभार्थियों की उम्र 18 से 40 वर्ष होनी चाहिए. योजना के अंतर्गत ग्राहकों को आयकर अधिनियम के सेक्शन 80CCD (1b) के अंतर्गत इस योजना में किए गए योगदान पर टैक्स बेनेफिट भी हासिल कर सकते हैं.

इतना निवेश करने पर मिलेगी इतनी पेंशन

अटल पेंशन स्कीम में निवेश के लिए 18 वर्ष की उम्र ज्यादा मुफीद है. मौजूदा नियमों के अनुसार अगर 18 साल की उम्र में योजना से अधिकतम 5 हजार रुपये मासिक पेंशन के लिए जुड़ते हैं तो आपको हर महीने 210 रुपये देने होंगे. यानी आपको केवल 7 रुपये रोज बचाने हैं. अगर यही पैसा हर तीन महीने में देते हैं तो 626 रुपये और छह महीने में देने पर 1,239 रुपये देने होंगे.

वहीं, महीने में 1,000 रुपये पेंशन पाने के लिए अगर 18 साल की उम्र में निवेश करते हैं तो मासिक 42 रुपये देने होंगे. जिनकी आयु 40 वर्ष है तो उन्हें 297 से लेकर 1 ,454 रुपये तक प्रीमियम देना होगा.

उम्र साल  प्रति माह योगदान पेंशन
18 42 210 5000
25 35 376 5000
30 30 577 5000
35 25 902 5000
40 20 1454 5000

ऐसा नहीं किया तो फ्रीज हो जाएगा खाता

अटल पेंशन योजना के अंतर्गत यदि आवेदक यदि आवेदक समय से भुगतान नहीं कर पाता है तो उसे पेनाल्टी देनी होगी. यह पेनाल्टी प्रतिमाह की 1 से लेकर 10 रुपये तक है. योगदान नहीं करने पर अकाउंट 6 महीने बाद फ्रीज कर दिया जाएगा. यदि इसके बाद भी निवेशक ने कोई निवेश नहीं किया है तो 12 महीने के बाद उसका अकाउंट डीएक्टिवेट कर दिया जाएगा और 24 महीने के बाद उसका अकाउंट बंद कर दिया जाएगा.

ऐसे कर सकते हैं पैसे की निकासी

60 वर्ष पूरे होने के बाद अटल पेंशन योजना से ग्राहक निकासी कर सकता है. इस स्थिति में ग्राहक को पेंशन प्रदान की जाएगी. यदि सब्सक्राइबर की मृत्यु हो जाती है तो पेंशन की राशि सब्सक्राइब के पति या पत्नी को प्रदान की जाएगी. यदि दोनों की मृत्यु हो जाती है तो पेंशन फंड उनके नॉमिनी को दिया जाता है.

3 करोड़ से अधिक सब्सक्राइबर

पेंशन फंड रेगुलेटरी एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी ऑफ इंडिया (PFRDA) के मुताबिक, अटल पेंशन योजना के अंतर्गत वित्त वर्ष 2020 -2021 में अब तक 3 करोड़ से अधिक सब्सक्राइबर को जोड़ा गया है. वित वर्ष 2020 -21 में इस योजना के तहत लगभग 79 लाख से अधिक नए अंशधारकों को जोड़ा गया है. अटल पेंशन योजना में अंशधारकों का आंकड़ा तीन करोड़ को पार कर चुका है. इसके अंतर्गत जुड़े 3.2 करोड़ खातेधारकों में से 70 % खाते सार्वजनिक बैंको के द्वारा खोले गए हैं और बाकी 19 % खाते ग्रामीण इलाकों के बैंकों में खोले गए हैं. बीते 6 महीनों में इस योजना से जुड़ने वाले खाताधारकों की संख्या में बढ़ोतरी हुई है.

Check Also

केन्द्रीय कर्मचारियों की काॅस्ट कटिंग के लिए निर्देश जारी

   जहां एक ओर जनता कोरोना महामारी से परेशान है तो दूसरी ओर लाॅकडाउन जैसी …