राजस्थान के माउंट आबू में पारा जमाव बिंदु पर पहुंचा

जयपुर :  जागरण संवाददाता। राजस्थान में तेज सर्दी का दौर जारी है। बुधवार सुबह घने कोहरे और सर्दी से लोगों की कंपकंपी छूट गई। राज्य में सबसे कम तापमान फतेहपुर में 2.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है। माउंट आबू का तापमान जमाव बिंदु पर पहुंच गया। उदयपुर की फतेहसागर झील पर बुधवार सुबह पानी पर भाप उठती नजर आई। यह कोहरे का असर बताया जा रहा है। राज्य के अधिकांश जिलों में तापमाल में गिरावट दर्ज की गई है।

 

जयपुर में सुबह आठ बजे तक कोहरा रहा। सर्द हवाओं और कोहरे के बीच लोग कामकाज के लिए निकले। भीलवाड़ा में न्यूनतम तापमान 4.7 डिग्री सेल्सियस, चूरू में 3.9, करौली में 3.8, बारां में 4.1, नागौर में 5.1, अलवर और सीकर में 5.5, उदयपुर में 5.8, जालौर में 6.2, श्रीगंगानगर में 6.1, पिलानी में 6.9, जयपुर में 6.5, सवाईमाधोपुर में छह डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया। शेष अन्य जिलों का तापमान सात से 9.9 डिग्री सेल्सियस के मध्य दर्ज किया गया है। जयपुर मौसम केंद्र के अनुसार, राज्य में इस सप्ताह सर्दी से राहत मिलने की उम्मीद कम है। हालांकि मौसम खुलने से तापमान में कुछ बढ़ोतरी हो सकती है।

 

जम्मू-कश्मीर में सक्रिय पश्चिमी विक्षोभ वर्तमान में उत्तरी राजस्थान पर पहुंचकर हवा के ऊपरी भाग में चक्रवात के रूप में स्थित है। इसके प्रभाव से हरियाणा में एक प्रेरित चक्रवात बना हुआ है। कोंकण में भी हवा के ऊपरी भाग में एक चक्रवात बना है। इस सिस्टम से एक ट्रफ दक्षिण-पूर्वी मध्यप्रदेश से होकर झारखंड तक बना है। इसके कारण नमी आने से पूर्वी मध्य प्रदेश के जबलपुर, शहडोल, रीवा संभाग के जिलों में बारिश हो रही है। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक, बुधवार से वेदर सिस्टम कमजोर पड़ने लगेंगे। इससे गुरुवार से न्यूनतम तापमान में गिरावट होने लगेगी और रात में ठंड बढ़ जाएगी। मंगलवार को इंदौर के अलावा उज्जैन, धार, राजगढ़, भोपाल, शाजापुर में तीव्र शीतल दिन रहा। गुना, रायसेन, रतलाम, खंडवा व खरगोन में भी शीतल दिन रहा।

Check Also

खुजली, लाल आंखें ओमाइक्रोन संक्रमण का संकेत दे सकती हैं; आप सभी को इस नए लक्षण के बारे में जानने की जरूरत

भले ही ‘उपन्यास’ कोरोनावायरस SARS-CoV-2 हमारे बीच दो साल से अधिक पुराना है, लेकिन इसने …