टोसिलिजुमाब देने के लिए सीएमओ का पत्र मांग रहे मेडिकल स्टोर संचालक, तीमारदारों की बढ़ा रहे परेशानी

लखनऊ : कोरोना संकट काल में कोविड मरीजों के तीमारदारों की परेशानी मेडिकल स्टोर संचालक बढ़ा रहे है। कोविड अस्पताल में मरीज के लिए लिखे जा रहे टोसिजिजुमाल इंजेक्शन या दवा देने के लिए मेडिकल स्टोर संचालक सीएमओ का पत्र मांग रहे हैं।
लखनऊ के मिडलैंड अस्पताल में  एक महिला मरीज के कोविड से संक्रमित होने के बाद उपचार किया गया। इस दौरान चिकित्सकों की तरफ से टोसिलिजुमाब लिखकर मंगाया गया। इसे लेने के लिए जब तीमारदार मेडिकल स्टोर पर पहुंचे तो वहां पर सीएमओ का पत्र मांगा जाने लगा।
महिला मरीज के तीमारदार ने लखनऊ के सीएमओ को पत्र लिखकर उनसे दवा लेने की अनुमति वाला पत्र भेजने की अपील की। तीमारदार ने अपने पत्र को सामाजिक संगठन और सामाजिक कार्य करने वाले लोगों के माध्यम से भी सीएमओ तक पहुंचाने का प्रयास किया क्योंकि उसके पास सीएमओ से संपर्क करने का दूसरा कोई माध्यम नहीं था।
इस बाबत मेडिकल स्टोर पर कर्मचारी अशोक ने बताया कि कोविड 19 से जुड़े हुए कुछ दवाओं और इंजेक्शन को बेचने के लिए मुख्य चिकित्सा अधिकारी कार्यालय से अनुमति लेने के लिए कहा गया है। जिसकी जानकारी दवा लेने आए व्यक्ति को दी जा रही है।
बता दें कि, टोसीलिज़ुमाब दवा सभी व्यक्ति में वैक्टीरिया, वायरस से लड़ने की क्षमता बढ़ाती है। प्रतिरक्षा दवा के रूप में कई बीमारियों से लड़ने के लिए इसका उपयोग किया जाता है।

 

Check Also

UP में कैशलेस इलाज के लिए हेल्पलेस कर्मचारी:सरकार ने 8 साल पहले HC में हलफनामा दिया था; योजना का नाम बदल 3.5 लाख गोल्डन कार्ड भी बनाए, मगर लाभ जीरो

साल 2017 में प्रदेश में भाजपा की सरकार आने के बाद कैशलेस इलाज का नाम पंडित दीनदयाल …