Malaria diet: तेजी से रिकवरी के लिए क्या खाएं और क्या नजरअंदाज करें, जानना है बहुत जरूरी

संतुलित डाइट बीमारी से ठीक होने में अहम भूमिका निभाता है. एक प्लेट पौष्टिक और हेल्दी फूड न सिर्फ ऊर्जा मुहैया कराता है बल्कि शरीर का रिकवरी प्रक्रिया को तेज करता है. इसी तरह मलेरिया से जूझनेवाले लोगों के साथ भी होता है.

 

मलेरिया वेक्टर जनित बीमारी है. ये बीमारी एनोफेलाइन मच्छर के काटने होती है. मलेरिया से पीड़ित शख्स का ब्लड प्लेटलेट्स तेजी से गिर जाता है. जिससे कमजोरी, बुखार और मांसपेशियों में ऐंठन होता है. मलेरिया का कोई खास डाइट नहीं है, लेकिन पर्याप्त पोषण सुधार के लिए जरूरी होता है.

 

खुद को हाइड्रेटेड रखें

 

खुद को हाइड्रेटेड रखने के लिए ज्यादा पानी पीएं. आप नारियल पानी, नींबू पानी और फल को भी शामिल कर सकते हैं. खीरा, संतरा में बहुत ज्यादा पानी पाया जाता है. पानी शरीर से टॉक्सिन्स को बाहर निकालने में मदद करता है. जिससे जल्दी रिकवर हुआ जा सकता है. इसके अलावा, मलेरिया के मरीजों को आम तौर पर भूख का एहसास कम हो जाता है. भूख की कमी को पानी पीकर पूरा किया जा सकता है. इस तरह आप ऊर्जावान रह सकेंगे.

 

हेल्दी प्रोटीन को शामिल करें

 

मलेरिया मांसपेशियों की कमी का कारण बन सकता है. जिससे पीड़ित शख्स खुद को बहुत कमजोर महसूस करने लगता है. प्रोटीन की खुराक बढ़ाना एक बेहतरीन विकल्प होता है. आप मलेरिया से ठीक होने में अपने स्वास्थ्य के लिए ऐसा कर सकते हैं. प्रोटीन जीवन का निर्माण खंड होता है. हर कोशिका और ऊत्तक को खुद की मरम्मत करने में जरूरत होती है. इसलिए, मलेरिया के वक्त अतिरिक्त प्रोटीन का सेवन रिकवरी को तेज कर सकता है.
फलियां, अखरोट, हरी सब्जियां और डेयरी प्रोडक्ट्स प्रोटीन के अच्छे स्रोत होते हैं.

 

फैट का सेवन कम करें

 

कार्बोहाइड्रेट्स और प्रोटीन की तरह, फैट भी शरीर की गतिविधियों के लिए अहम सूक्ष्म न्यूट्रिएंट होता है. लेकिन इसका इस्तेमाल सीमित मात्रा में करना चाहिए. बहुत ज्यादा फैट्टी और फ्राइड फूड के सेवन से अपच की समस्या हो सकती है. आपकी डाइट में फैट के स्वस्थ स्रोत ओमेगा-3 हो सकता है. ओमेगा-3 फैट में सूजन रोधी गुण पाए जाते हैं. जिससे शरीर के सूजन को कम करने में मददगार साबित होता है.

 

5 फूड को नजरअंदाज करें

 

सभी तरह के फ्राइड, स्पाइसी और फैट्टी फूड्स से बचें. मलेरिया होने पर फाइबर की ज्यादा मात्रा वाले फल और सब्जियों का सेवन भी कम कर देना चाहिए. ज्यादा कॉफी, चाय, गैस मिश्रित ड्रिंक्स और दूसरे कैफीन युक्त पेय का इस्तेमाल न करें. जल्दी से रिकवरी के लिए हल्का और आसानी से पचनेवाला फूड खाना चाहिए.

Check Also

सर्दियों में संतरा खाने के अनेक फायदे

सर्दियों का मौसम आने वाला है और वो अपने साथ कई बीमारियों को भी साथ …