मेक इन इंडिया: भारत दे रहा है चीन को कड़ी टक्कर! भारत से एक महीने में एक अरब डॉलर से ज्यादा के आईफोन का निर्यात किया गया

Apple iPhone 1 बिलियन अमेरिकी डॉलर का निर्यात करता है: भारत इलेक्ट्रॉनिक्स विनिर्माण क्षेत्र में एक प्रमुख विकल्प के रूप में उभर रहा है और चीन को कड़ी टक्कर दे रहा है। भारत ने पिछले एक महीने में Apple iPhone (भारत में iPhone निर्यात) के मजबूत निर्यात से इसका संकेत दिया है। देश से Apple iPhone के निर्यात में पिछले एक महीने में भारी उछाल देखा गया है और एक महीने में भारत से 1 बिलियन डॉलर से अधिक के स्मार्टफोन का निर्यात किया गया है। इकोनॉमिक टाइम्स में छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक दिसंबर महीने में देश से करीब 8,100 करोड़ रुपये के स्मार्टफोन एक्सपोर्ट किए गए हैं। वहीं, दिसंबर के महीने में कुछ स्मार्टफोन इंडस्ट्री का एक्सपोर्ट 10,000 करोड़ रुपये को पार कर गया है। ऐसे में ये आंकड़े ‘मेक इन इंडिया’ कार्यक्रम को काफी बढ़ावा दे रहे हैं।

iPhone भारत की सबसे बड़ी निर्यातक कंपनी बन गई

आपको बता दें कि भारत में सबसे ज्यादा संख्या में Apple और Samsung के स्मार्टफोन बनते हैं। ऐसे में एक महीने में 1 अरब डॉलर से ज्यादा का निर्यात कर एपल ने निर्यात के मामले में सैमसंग को काफी पीछे छोड़ दिया है और देश में स्मार्टफोन निर्यात करने वाली शीर्ष कंपनी बन गई है। उल्लेखनीय है कि देश में कई आईफोन मॉडल का निर्माण हो रहा है। इसमें iPhone 12, 13, 14 और 14+ मॉडल शामिल हैं।

भारत में तीन प्रमुख आईफोन निर्माता हैं। ये हैं फॉक्सकॉन होन हाई, पेगाट्रॉन और विस्ट्रॉन। देश में, निर्माता अपने iPhones का निर्माण तमिलनाडु और कर्नाटक राज्यों में कर रहा है। मेक इन इंडिया कार्यक्रम को बढ़ावा देने के लिए, केंद्र सरकार ने अप्रैल 2020 के महीने में प्रोडक्शन-लिंक्ड इंसेंटिव (PLI) योजना शुरू की है।

पीएलआई योजना का उद्देश्य क्या है

आपको बता दें कि केंद्र की मोदी सरकार पीएलआई योजना के जरिए भारत को स्मार्टफोन, टीवी, रेफ्रिजरेटर आदि इलेक्ट्रॉनिक मैन्युफैक्चरिंग का दुनिया का सबसे बड़ा हब बनाना चाहती है। इस योजना के तहत, सरकार देश में उत्पादन को गति देने के लिए कई लाभ प्रदान करती है। बदले में कंपनी को अपने उत्पादन, निर्यात, निवेश और जॉब डेटा के बारे में सरकार को जानकारी देनी होती है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, वित्त वर्ष 2021-22 में स्मार्टफोन का निर्यात 5.8 अरब डॉलर का था, जिसके अब वित्त वर्ष 2022-23 में 9 अरब डॉलर तक पहुंचने की उम्मीद है। ऐसे में दिसंबर के महीने में 1 अरब डॉलर से अधिक का आईफोन निर्यात भारत सरकार की पीएलआई योजना की सबसे बड़ी सफलता है।

Check Also

पेटीएम पेमेंट्स बैंक ने यूपीआई में जोड़ा रुपे क्रेडिट कार्ड, क्यूआर कोड के इस्तेमाल से भुगतान होगा आसान

भारत के घरेलू भुगतान समाधान पेटीएम पेमेंट्स बैंक लिमिटेड ने हाल ही में यूपीआई के …