Makar Sankrati 2023 : शनि दोष से मुक्ति के लिए मकर संक्रांति पर करें इन चीजों का दान!

मकर संक्रांति शनिवार को : 2023 में मकर संक्रांति 14 जनवरी शनिवार को मनाई जाएगी। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार मकर संक्रांति पर्व इसलिए मनाया जाता है क्योंकि सूर्य मकर राशि में प्रवेश कर चुका है, इस दिन लोग स्नान आदि करके सूर्य को अर्घ्य देते हैं और दान-पुण्य करते हैं। जब सूर्य मकर राशि में प्रवेश करता है, तो विवाह आदि शुभ कार्यक्रम शुरू हो जाते हैं।

मकर राशि में सूर्य देव के प्रवेश से राशि पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता है, लेकिन इसकी सकारात्मकता पूरे वातावरण में दिखाई देती है। मकर संक्रांति का पर्व देशभर में बड़ी धूमधाम से मनाया जाता है। देश के अलग-अलग प्रांतों में इसे अलग-अलग नामों से जाना जाता है। कुछ इसे खिचड़ी, पोंगल और उत्तरायण नामों से जानते हैं। इस दिन जो भी व्यक्ति दान करेगा उसे लाभ मिलेगा। इस वर्ष मकर संक्रांति शनिवार को पड़ रही है। आइए जानते हैं इस दिन किन वस्तुओं का दान करना चाहिए।

 

लंबा अनाज

ज्योतिष शास्त्र में उद्दी बेले को शनि देव से संबंधित माना जाता है। अगर आप शनि दोष से मुक्ति चाहते हैं तो किसी जरूरतमंद को उड़न बेला का दान कर सकते हैं।

 

काले तिल का दान करें

मकर संक्रांति के दिन आप काले तिल का दान भी कर सकते हैं। काले तिल का दान करने से भी शनि दोष दूर होता है।

 

काले वस्त्र या कंबल का दान करें

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार मकर संक्रांति के दिन आप काला कपड़ा या कंबल दान कर सकते हैं। यदि आप किसी जरूरतमंद को काले कपड़े या कंबल देते हैं तो आपको निश्चित रूप से बेहतर परिणाम मिलेंगे।

लोहे का दान

मकर संक्रांति शनिवार के दिन है, इस दिन आप लोहे या लोहे से बनी चीजों का दान करें तो यह आपके लिए फायदेमंद साबित होगा।

मकर संक्रांति पुराण

माना जाता है कि सूर्यदेव इसी दिन अपने पुत्र शनिदेव के घर के लिए निकले थे। इसलिए मकर संक्रांति पर्व मनाया जाता है। इसके साथ ही विष्णु की राक्षसों पर विजय की भी कथा है, इसलिए मकर संक्रांति मनाई जाती है।

Check Also

Mahashivratri 2023: महाशिवरात्रि पर हो रहा है ‘महासंयोग’! इन उपायों से प्रसन्न होंगे शिव

महाशिवरात्रि 2023 : भगवान भोलेनाथ (भगवान शिव) और देवी पार्वती (देवी पार्वती) का विवाह समारोह माघ महीने में कृष्ण …