Makar Sankranti 2022: मकर संक्रांति के दिन देश में मनाया जाता है पतंग उत्सव, जानें क्या होता है इस दिन खास

Makar Sankranti And Kite Festival: कल देशभर में मकर संक्रांति (Makar Sankranti) का त्योहार मनाया जाएगा. मकर संक्रांति के दिन स्नान के बाद सूर्य देव की पूजा की जाती है और दान किया जाता है. इस दिन सूर्य दक्षिणायन से उत्तरायण होते हैं. उत्तरायण को देवताओं का दिन कहा जाता है. उत्तरायण से दिन बड़ा और रात्रि छोटी होनी शुरु हो जाती है. मकर संक्रांति के दिन से ही विवाह, सगाई, मुंडन, गृह प्रवेश जैसे मांगलिक कार्यों के लिए मुहूर्त देखे जाने लगते हैं, क्योंकि उस दिन से खरमास खत्म हो जाता है. मकर संक्रांति को पतंगों का पर्व भी कहा जाता है. इस पावन अवसर पर देश के कई राज्‍यों में पतंग उड़ाने की परंपरा रही है. देश के कई हिस्‍सों में पतंगोत्सवों (Kite Festival) का आयोजन किया जाता है. इसमें जहां बच्‍चे पतंगे उड़ाते दिखते हैं, वहीं इस आयोजन में कई अनुभवी अपनी पतंगबाजी की कला का प्रदर्शन करते नजर आते हैं. पतंगों के इस उत्‍सव में लोगों की भारी भीड़ जमा होती है. यही वजह है कि इस मौके पर लोग खुले मैदानों और छतों पर पतंग उड़ाते नजर आते हैं और ऐसे में आसमान रंग-बिरंगी पतंगों (Kite) से सजा नजर आता है. मकर संक्रांति पर लोगों में पतंगोत्सव को लेकर उत्‍साह नजर आने लगा है.

देश में कई जगह होता है पतंगोत्सव
हालांकि इस बार कोरोना संक्रमण के मद्देनजर शायद पहले की तरह पतंगोत्‍सव (Kite Festival) में उस तरह की भीड़ जमा न हो. मगर हर साल इस मौके पर देश के कई हिस्‍सों में पतंगोत्‍सव आयोजित किए जाते हैं. इनमें दूर-दूर से लोग पतंगबाजी करने के लिए जमा होते हैं. कुछ जगहों पर तो सामूहिक पतंग उत्सव आयोजित होते हैं. इनमें तरह तरह के डिजाइन, रंगों की पतंगें पतंगबाज के इशारे पर लहराती दिखती हैं. ऐसे में आसपास का माहौल बहुत ही अच्‍छा लगता है और रंग बिरंगी पतंगों से सजे आसमान की खूबसूरती अलग ही नजर आती है.

 

प्रतियोगिताएं भी होती हैं
आपको बता दें कि मकर संक्रांति के मौके पर देश के कई शहरों में पतंगोत्‍सव आयोजित किए जाते हैं. वहीं गुजरात का पतंगोत्सव दुनिया भर में मशहूर है. मकर संक्रांति के दिन यह उत्‍सव पूरे उत्‍साह के साथ मनाया जाता है. हर साल यहां कई दिवसीय पतंगोत्‍सव का आयोजन किया जाता रहा है और इसे देखने को देश के कई हिस्‍सों और विदेशों से भी लोग आते हैं. इसके अलावा जयपुर में भी इसी तरह का एक पतंगोत्‍सव मनाया जाता है. वहीं कुछ अन्‍य अवसरों पर पंजाब में भी काइट फेस्टिवल आयोजित किए जाते हैं. इनकी प्रतियोगिताएं आयोजित होती हैं और लोग दूर दूर से आकर इनमें शामिल होते हैं.

 

कई मौकों पर है पतंग उड़ाने की परंपरा
मकर संक्रांति के मौके पर तो पतंग उड़ाई ही जाती है. साथ ही दक्षिण भारत में पोंगल पर्व के अवसर पर भी लोग पतंग उड़ाते हैं और ऐसे में यहां के समुद्र तट पर लोगों की भारी भीड़ देखी जा सकती है. इसके अलावा हर साल राजधानी दिल्‍ली में भी स्‍वतंत्रता दिवस के मौके पर पतंग उड़ाई जाती हैं.

Check Also

हाथ को सैनिटाइजर करने के बाद, कभी न करे ऐसी गलती

सैनिटाइजर का इस्तेमाल कोरोना वायरस से बचने के लिए किया जा रहा है। हाथों को …