लखनऊ की स्थिति भयावह : दाह संस्कार के लिए तैयार हुए 70 नए प्लेटफॉर्म, 15 से 20 घंटे लोग कर रहे इंतजार

यूपी(UP) की राजधानी लखनऊ(Lucknow) में कोरोना का कहर जमकर बरपा हुआ है. उसके आस पास के जिलों में कोरोना से मौतों के बाद दाह संस्कार के लिए बड़ी संख्या में श्मशान घाट पहुंच रहे हैं. इसके कारण लोगों को वहां पर लम्बी लाइन लगानी पड़ रही हैं. ऐसी विकट परिस्थितियों को देखते हुए लखनऊ नगर निगम ने भिन्न भिन्न श्मशान घाटों पर अंतिम संस्कार करने के लिए 90 नए प्लेटफार्म को तैयार कर दिया गया है.  इस पर नगर आयुक्त अजय  द्विवेदी ने कहा है कि बैकुंठ धाम और गुलाला घाट पर नए प्लेटफॉर्म तैयार कराए गए हैं. टोटल 20 नए प्लेटफॉर्म का निर्माण किया जा चुका है. केवल यही नहीं इसके अलावा 50 और नए प्लेटफॉर्म को भी लगभग तैयार किया गया हैं. 15 दिनों में 5 इलेक्ट्रिक मशीनें भी श्मशान घाट पर लगाई जाएंगी. इसके साथ 100 लोगों को श्मशान घाट पर वहां की व्यवस्था को देखने के लिए लगाया गया है. बता दें कि इससे पहले कोरोना संक्रमित शवों के दाह संस्कार के लिए महज 2 प्लेटफॉर्म ही थे.

 

नगर आयुक्त के बताए अनुसार बीते रविवार को रात करीबन 10 बजे तक 50 कोविड शवों का अंतिम संस्कार किया गया था. केवल 2 प्लेटफॉर्म होने के कारण  पीड़ित परिवारों को कई घंटों तक लाइन में लगे रह कर इंतजार करना पड़ रहा था. अब जो ​नए प्लेटफॉर्म बनाए गए है, वहां सिर्फ कोविड शवों का ही दाह संस्कार किया जाएगा. अभी तक ये दाह संस्कार बैकुंठधाम पर 1 और गुलालाघाट पर 1 इलेक्ट्रिक शवदाह गृह में ही हो रहे थे. अब पांच और इलेक्ट्रिक शवदाह गृह बनाए जा रहे हैं.

कोरोना से  लखनऊ में मौतों की संख्‍या दिन पर दिन बढ़ती जा रही है. शवदाह कराने के लिए लोग 15 से 20 घंटे तक शनिवार  को प्रतीक्षा कर रहे थे. बीते रविवार को पूरे यूपी में कोविड से कुल 67 लोग मरे. इनमें से केवल लखनऊ में ही 31 लोग की मौत हुई लखनऊ में हुईं.

Check Also

मेरठ में भी बढ़ रहा ब्लैक फंगस का कहर, 2 की मौत, 10 मरीज अस्पतालों में भर्ती

उत्तर प्रदेश के मेरठ में ब्लैक फंगस का कहर जारी है. यहां इस बीमारी से …