शनिदेव को बेहद प्रिय है इस रंग के फूल, इस तरह अर्पित करने से होगा हर कष्ट दूर

भगवान शनि को न्याय का देवता कहा जाता है। शास्त्रों के अनुसार वह व्यक्ति को उसके कर्मों के हिसाब से दंड देते हैं। इसलिए कहा जाता है कि अगर आप शनिदेव के बुरे प्रभाव से बचना चाहते हैं तो अच्छे काम करें।

ज्योतिष शास्त्र में शनिदेव को न्याय के साथ भाग्य का देवता भी कहा जाता है। इसके अनुसार अगर शनिदेव किसी व्यक्ति पर प्रसन्न रहते हैं तो वह दिन दोगुनी रात चौगुनी सफलता प्राप्त करता है। इसलिए शनिदेव के क्रोध से बचने के लिए विभिन्न तरह के उपाय अपनाते हैं। आप चाहे तो शनिदेव को यह 2 तरह के फूल अर्पित कर सकते हैं। इससे आपके हर रुके हुए काम तो पूरे होंगे ही। इसके साथ ही साढ़े साती और ढैया का प्रभाव भी कम हो जाएगा।

 

 

शास्त्रों के अनुसार भगवान शनि को नीले रंग के फूल अति प्रिय है। इसलिए शनिवार के दिन इस रंग के फूल जरूर शनिदेव को चढ़ाए।

Shani dev upay offering these 2 flowers a and aparajita to lord shani for happiness and blessing

 

अपराजिता का फूल

अपराजिता का फूल नीले रंग का होता है। यह फूल शनिदेव को काफी पसंद है। शनिदेव ही नहीं भगवान शिव को भी इस फूल से काफी प्रेम है। शनिवार के साथ 5, 7, 11 अपराजिता के फूल लेकर शनिदेव के चरणों में चढ़ा दें। इससे शनिदेव जल्द प्रसन्न हो जाएंगे।

आक का फूल
आमतौर पर आक का फूल सफेद होता है। लेकिन आपको बता दें कि आक का फूल नीले रंग का भी होता है जो, शनिदेव को चढ़ाना काफी शुभ माना जाता है। आक के फूल को मदार का फूल भी कहा जाता है।  आक के फूल को भी शनिदेव के चरणों पर चढ़ाएं। इससे भी आपको शुभ फल मिलेगा।

Check Also

यश और वैभव प्राप्ति के लिए रविवार को करें सूर्यदेव की पूजा

सूर्यदेव के तेज के देवता है। रविवार को सूर्य का दिन माना जाता है। सूर्य …