प्रधानमंत्री की उत्कृष्ट सोच का परिणाम है जीवनदायिनी आयुष्मान: मुख्यमंत्री

aayushman yojna_763

देहरादून, 23 सितंबर (हि.स.)। मुख्यमंत्री ने आयुष्मान भारत योजना के चौथी वर्षगांठ पर कहा कि आयुष्मान निसंदेह ही जीवनदायनी का काम कर रही है। जन कल्याण की यह योजना प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की उत्कृष्ट सोच का परिणाम है।

शुक्रवार को संस्कृति भवन सभागार में आरोग्य मंथन 2022, राज्य स्वास्थ्य प्राधिकरण उत्तराखण्ड की ओर से आयुष्मान भारत योजना के चार वर्ष पूरे होने पर आयोजित किया गया। इस मौके पर बतौर मुख्य अतिथि मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने यह बातें कही। इस दौरान मुख्यमंत्री ने आयुष्मान योजना में उत्कृष्ट कार्य करने वाले 24 चिकित्सालयों, 16 आयुष्मान मित्र और योजना से मुफ्त उपचार लेने वाले 20 से अधिक लाभार्थियों को सम्मानित किया गया। साथ ही मुख्यमंत्री ने आयुष्मान योजना के लाभार्थियों से संवाद भी किया। प्रदेशभर में आयुष्मान कार्ड बनाने और उसकी जागरुकता के लिए आयुष्मान आरोग्य रथ को मुख्य अतिथि एवं विशिष्ट अतिथि ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।

कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने कहा कि आयुष्मान योजना में हर व्यक्ति को निशुल्क उपचार की सुविधा मिल रही है। अस्सतालों में उपचार का खर्च परिवार की आर्थिकी को प्रभावित करती है। अधिकांश लोगों को निशुल्क उपचार की जरूरत होती है। उन्होंने कहा कि 2014 के बाद जब से नरेन्द्र मोदी ने देश की सत्ता संभाली है। भारत की पूरे विश्व में अलग पहचान बनी है। वे एक नया और समृद्ध भारत गढ़ने का कार्य किया है। स्वास्थ्य, स्वच्छता और गरीब कल्याण की दिशा में अतुलनीय कार्य हो रहे हैं।

कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि स्वास्थ्य मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने कहा कि आयुष्मान योजना की प्रगति अपेक्षाओं के अनुरूप है। अब नई व्यवस्थाओं में उपचार के बिलों पर अस्पताल को मरीज के हस्ताक्षर कराने होंगे ताकि मरीज को पता चल सके उसके उपचार कितना खर्च हुआ है। गांधी जयंती के शुभ अवसर पर यह व्यवस्था लागू हो जाएगी।

उन्होंने कहा कि दिसंबर माह तक शत प्रतिशत आयुष्मान कार्ड बनाने का लक्ष्य रखा गया है। इस प्रक्रिया को आसान बनाने के साथ ही ग्रामीण स्तर पर आशा कार्यकत्रियों की सेवा भी इस कार्य में ली जाएगी। इसके अलावा आभा आईडी बनाने पर जो दिया जा रहा है।

मंत्री ने कहा कि प्रदेश में प्रत्येक डिलीवरी संस्थागत होगी और सरकारी योजना के तहत निशुल्क होगी। इसमें किसी प्रकार से भ्रमित होने की आवश्यकता नहीं है।

प्रभारी सचिव स्वास्थ्य डॉ. राजेश कुमार ने आयुष्मान योजना की प्रगति व प्रभावशीलता के बारे में जानकारी दी। प्राधिकरण के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अरूणेंद्र चौहान ने प्रदेश में संचालित आयुष्मान की प्रगति के बारे में विस्तार से जानकारी दी।

Check Also

27_09_2022-dead_body.jfif

बठिंडा समाचार: राजस्थान के एक व्यापारी ने बठिंडा में जहरीली दवा निगल कर की आत्महत्या

बठिंडा : राजस्थान के स्थानीय रेलवे रोड स्थित एक होटल में जहरीली दवा निगल कर आत्महत्या …