WvOYGYOV5ALkqiqYCWDT52ZnHtU7UdifuelqzC6p

पितृ पक्ष में पितरों की पूजा व भोग लगाया जाता है। इस समय पिता श्राद्ध कर्म से प्रसन्न होते हैं और परिवार को आयु, सुख और समृद्धि का आशीर्वाद देते हैं। श्राद्ध कर्म से पितरों की आत्मा को शांति मिलती है। इसलिए कहा जाता है कि प्रत्येक व्यक्ति को पितरों का श्राद्ध अवश्य करना चाहिए। इस दिन श्राद्ध पूर्ण होता है। इसलिए इस दिन सभी पूर्वजों की पूजा की जा सकती है।

सर्व पितृ अमास के दिन यदि कुछ विशेष उपाय किए जाएं तो पितरों को प्रसन्नता होती है। यह हमेशा परिवार पर अपना आशीर्वाद और घर में सुख और समृद्धि लाता है। तो जानिए किन खास उपायों से मिलेगी सफलता।

माता-पिता खुश रहेंगे

पितृपक्ष अमास पर कुछ विशेष उपाय अपनाकर पितरों को प्रसन्न किया जा सकता है। इस दिन ज्ञात और अज्ञात पूर्वजों की पूजा की जाती है। पितृमोक्ष अमास को सर्वपितृ अमास भी कहा जाता है। इन उपायों से प्रसन्न होकर पिता परिवार को आशीर्वाद देता है।

जानिए किस माध्यम से मिलेगा आपको विशेष पुण्य

गायों को हरा चारा खिलाएं

कहा जाता है कि सर्व पितृ अमास के दिन पितरों को प्रसन्न करने के लिए गायों को हरा चारा खिलाना चाहिए. पितृपक्ष में गायों को भोजन कराकर उनकी सेवा करने से विशेष फल मिलता है।

पीपला वृक्ष की पूजा

सर्व पितृ अमास के लिए पीपला वृक्ष की पूजा का विशेष महत्व है। इसके लिए इस दिन सुबह जल्दी उठकर पीपला के पेड़ के नीचे दीपक जलाएं। इससे पिता प्रसन्न होते हैं और उन्हें आशीर्वाद देते हैं।

देने के लिए

मान्यता है कि सर्व पितृ अमास के दिन पितरों का भोग लगाया जाता है। इस दिन इसका विशेष महत्व है। इससे माता-पिता प्रसन्न होते हैं और उन्हें सुख-समृद्धि का आशीर्वाद भी मिलता है।