अधिवक्ताओं की तहरीर पर फरीदपुर पुलिस द्वारा रिपोर्ट दर्ज न करने पर पीड़ित अधिवक्ताओं ने दिया धरना

अधिवक्ताओं की तहरीर पर फरीदपुर पुलिस द्वारा रिपोर्ट दर्ज न करने पर पीड़ित अधिवक्ताओं ने दिया धरना
सिविल न्यायालय बार एसोसिएशन के अधिवक्ता भी उतरे समर्थन में सीओ से मिलकर दिया ज्ञापन

संवाददाता -ब्रजेश मिश्रा/फरीदपुर बरेली। फरीदपुर मुंसिफ कोर्ट परिसर में विधि व्यवसाय करने वाले अधिवक्ताओं के चेंबर में तोड़फोड़ करने वाले एक भाजपा नेता एवं उसके साथियों के खिलाफ अधिवक्ताओं द्वारा थाना पुलिस को दी गई तहरीर पर आरोपियों पर मुकदमा दर्ज ना होने पर पीड़िता अधिवक्ता राजकुमार सिंह योगेंद्र सिंह मोहित सिंह तोमर शनिवार को अपने ही चेंबर पर जमीन पर धरना देकर बैठ गए। अधिवक्ताओं के साथ आरोपियों द्वारा अभद्रता किए जाने पर पुलिस द्वारा मुकदमा दर्ज ना करने पर सिविल वार न्यायालय एसोसिएशन के अधिवक्ताओं ने अध्यक्ष संजीव मिश्रा के साथ बैठक कर पीड़ित अधिवक्ताओं के समर्थन में उतर आए और मुंसिफ कोर्ट परिसर के बराबर में ही धरने पर बैठे अधिवक्ताओं के साथ नारेबाजी बा प्रदर्शन करना शुरू कर दिया और पुलिस की कार्यप्रणाली पर रोष व्यक्त किया और सभी अधिवक्ता पुलिस क्षेत्राधिकारी गौरव सिंह के कार्यालय पहुंचकर उन्हें एक ज्ञापन सौंपा। और आरोपियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराने की मांग की। उधर थाना पुलिस द्वारा पीड़ित वक्ताओं की तहरीर पर आरोपियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज न करने पर 18 मार्च को सिविल न्यायालय बार एसोसिएशन के सभी अधिवक्ताओं ने एक दिवसीय कार्य बहिष्कार किया।

Check Also

अतीक अहमद के भाई को दो सप्ताह के भीतर मारे जाने की आशंका

बरेली : उमेश पाल हत्याकांड में दोषी उत्तर प्रदेश के माफिया से नेता बने अतीक अहमद …