खून का रंग लाल क्यों होता है और सूखने के बाद खून काला कैसे हो जाता है, जानें

क्या आपने कभी सोचा है कि हमारे खून का रंग लाल ही कईं5 होता है। नीला या पिला क्यों नहीं। इंसान के शरीर में खून प्लाज्मा और रक्त कणिकाओं से मिलकर बना होता है।

ये रक्त कणिकाएं तीन प्रकार की होती हैं। पहली लाल रक्त कणिका, दूसरी श्वेत रक्त कणिका और तीसरी प्लेटलेट्स। इनके हमारे शरीर में अलग-अलग कार्य होते हैं। लाल रक्त कणिकाएं शरीर में ऑक्सीजन पहुंचाने का कार्य करती हैं।

बता दें कि लाल रक्त कणिकाओं में लाल रंग का हिमोग्लोबिन होता है और इनकी संख्या खून में 97 प्रतिशत होती है। यही कारण है कि खून का रंग लाल दिखाई देता है। यह बिल्कुल वैसे ही है जैसे पेड़-पौधों में हरे रंग का क्लोरोफिल होने के कारण उनके पत्तो का रंग हरा दिखाई देता है।

 

खून में लाल रंग हीमोग्लोबिन और ऑक्सीजन के कारण होता है। इसके साथ ही खून में ऑक्सीजन और आयरन की प्रचुर मात्रा होती है। लेकिन जैसे ही खून हमारे शरीर से अलग होता है इसमें ऑक्सीजन की मात्रा कम होने लगती है। खून में ऑक्सीजन की कमी के कारण खून का लाल रंग धीरे-धीरे कम होने लगता है और खून काले रंग का दिखाई देने लगता है।

Check Also

जल्द मां बनने वाली हैं छोटे पर्दे की एक्ट्रेस रुबीना दिलैक!, छोड़ा मां वैष्णो देवी शो

‘शक्ति अस्तित्व के अहसास की’ में एक दमदार रोल के तौर पर रुबीना दिलैक को …