ब्लड में ऑक्सीजन की कमी कोरोना मरीजों के लिए बड़ा खतरा, ‘पल्स ऑक्सीमीटर’ करेगा बड़ी मदद, जानें क्या हैं इसके फायदे

रक्त में ऑक्सीजन का निम्न स्तर होना कोविड (Covid-19) के बिगड़ने का एक प्रारंभिक संकेत है. लेकिन सभी में बीमारी के स्पष्ट लक्षण नहीं होते हैं. उदाहरण के लिए, कुछ लोगों को सांस लेने में तकलीफ या अन्यथा अस्वस्थ महसूस किए बिना भी ऑक्सीजन (Oxygen) का स्तर कम हो सकता है. इसलिए कुछ लोग घर पर अपने ऑक्सीजन के स्तर की निगरानी के लिए पल्स ऑक्सीमीटर (Pulse Oximeter) खरीद रहे हैं. अन्य लोगों को उनके कोविड होम-केयर पैकेज के हिस्से के रूप में नियमित रूप से पल्स ऑक्सीमीटर की आपूर्ति की जाती है.

विचार यह है कि घर पर आप स्वयं अपने ऑक्सीजन के स्तर की निगरानी करके आश्वस्त हो सकते हैं कि आपके फेफड़े आपके रक्त को पर्याप्त रूप से ऑक्सीजन दे रहे हैं. वैकल्पिक रूप से, ऑक्सीजन के निम्न स्तर का पता लगाना यह संकेत दे सकता है कि आपको तत्काल चिकित्सा देखभाल की आवश्यकता है. तो पल्स ऑक्सीमीटर क्या है? और अगर यह आपके पास है तो आप वास्तव में घर पर कोविड की निगरानी के लिए इसका उपयोग कैसे करते हैं?

पल्स ऑक्सीमीटर क्या है? यह कैसे काम करता है?

एक पल्स ऑक्सीमीटर एक नियमित नैदानिक ​​​​मॉनिटर है जो वर्षों से अस्पताल में और बाहर उपयोग में है. अधिकांश प्रकार जिन्हें आप घर पर उपयोग के लिए खरीद सकते हैं, उन्हें एक चिमटी की तरह डिज़ाइन किया गया है जिसे आप अपनी उंगलियों पर क्लिप करते हैं. क्लिप का एक पक्ष आपकी अंगुली से क्लिप के दूसरी ओर सेंसर तक प्रकाश डालता है. यह आपके खून के रंग का माप देता है. अधिक ऑक्सीजन ले जाने वाला रक्त (ऑक्सीजन युक्त रक्त) नीले रंग के डी-ऑक्सीजनेटेड रक्त की तुलना में अधिक चमकदार लाल होता है.

ऑक्सीमीटर रक्त के रंग की व्याख्या करता है (अवशोषित प्रकाश की मात्रा के माध्यम से) एक संख्या प्रदान करने के लिए- रक्त में ऑक्सीजन का प्रतिशत जो अधिकतम मात्रा में ले जाया जा सकता है. यह प्रतिशत ‘‘ऑक्सीजन संतृप्ति’’ स्तर है. स्वस्थ लोगों के लिए यह 95 प्रतिशत से 100 प्रतिशत होता है. ऑक्सीमीटर आपकी उंगली में नाड़ी से रक्त को मापता है, यह आपकी हृदय गति (दिल की धड़कन प्रति मिनट) को भी प्रदर्शित करेगा.

लोग अब उनका उपयोग कैसे कर रहे हैं?

कोविड वाले अधिकांश लोगों को अस्पताल में रहने की आवश्यकता नहीं है. इसलिए कुछ के लिए घर पर स्वास्थ्य पेशेवरों द्वारा निगरानी रखने के लिए सेवाओं की स्थापना की गई है और केवल तभी अस्पताल आते हैं जब वे बहुत अस्वस्थ होने लगते हैं. जिन लोगों को इस प्रकार के घर-में-अस्पताल जैसी निगरानी की जरूरत नहीं हैं, उन्हें घर में रहते अपने लक्षणों की निगरानी करने और अगर आवश्यक हो तो चिकित्सा देखभाल लेने की आवश्यकता होगी. कोविड के बिगड़ने के सबसे महत्वपूर्ण शुरुआती लक्षणों में से एक रक्त में ऑक्सीजन के स्तर में गिरावट है. ऐसा तब होता है जब फेफड़े फूल जाते हैं और ऑक्सीजन को अवशोषित करने में कम सक्षम होते हैं. यह व्यक्ति के बीमार महसूस करने से पहले भी हो सकता है.

ऑस्ट्रेलियाई दिशानिर्देश बताते हैं कि जब आराम की अवस्था में ऑक्सीजन संतृप्ति स्तर 92 प्रतिशथ -94 प्रतिशत तक गिर जाता है, तो अस्पताल में भर्ती होने के बारे में विचार किया जाना चाहिए. किसी को अस्पताल जाने की कब आवश्यकता है, यह इस बात पर भी निर्भर करता है कि क्या अन्य चेतावनी संकेत हैं जैसे कि तेजी से सांस लेना, वृद्धावस्था, पूरी तरह से टीकाकरण नहीं होना, अगर अन्य चिकित्सा समस्याएं हैं, और अगर किसी के पास सीमित सामाजिक सहयोग है. बच्चों के लिए यह संख्या 95 प्रतिशत या उससे कम है. अगर संभव हो तो आपको अपने चिकित्सक से संपर्क करना चाहिए जो आपकी व्यक्तिगत परिस्थितियों के आधार पर सलाह देगा.

क्या रीडिंग सटीक हैं?

ऑक्सीजन संतृप्ति रीडिंग आमतौर पर बहुत सटीक होती है. हालांकि, खराब परिसंचरण, या ठंडी या हिलती उंगलियां डिवाइस के लिए नाड़ी को ढूंढना मुश्किल बना सकती हैं या नाड़ी की जगह डिवाइस गति नापने लगता है. अगर आपकी उंगलियां ठंडी हैं या खराब परिसंचरण है, तो आपको दूसरी उंगली से कोशिश करनी पड़ सकती है, या रीडिंग लेने से पहले अपने हाथों को एक साथ रगड़ कर गर्म कर सकते हैं. माप लेते समय आपको स्थिर रहने और अपने हाथ को स्थिर रखने की भी आवश्यकता होगी.

छोटे बच्चों पर रीडिंग लेने के लिए यह एक चुनौती हो सकती है. नेल पॉलिश, विशेष रूप से गहरे रंग, भ्रामक ऑक्सीमीटर रीडिंग का कारण बन सकते हैं और इसलिए हम लोगों से अस्पताल में रीडिंग लेने से पहले इसे हटाने के लिए कहते हैं. हालांकि, ऐक्रेलिक नाखूनों की तुलना में नेल पॉलिश का प्रभाव कम होता है. इसलिए बेहतर होगा कि आप परीक्षण के लिए इस्तेमाल की जाने वाली उंगलियों पर लगे नेल पॉलिश या एक्रेलिक नाखून को हटा दें.

अगर मेरी त्वचा का रंग गहरा है तो क्या होगा?

गहरे रंग की त्वचा वाले लोगों में कुछ पल्स ऑक्सीमीटर की अशुद्धि अधिक विवादास्पद है. सॉफ़्टवेयर समस्याओं के कारण, गहरे रंग की त्वचा वाले लोगों में, कुछ पल्स ऑक्सीमीटर ऑक्सीजन के बढ़े हुए स्तर का अनुमान लगा सकते हैं. यह एक ऐसा मुद्दा है जिसके बारे में ऑस्ट्रेलिया का चिकित्सीय सामान प्रशासन (टीजीए) चिंतित है. हालांकि, उसने कहा कि उसके पास विशेष उपकरणों की सिफारिश करने के लिए सबूत नहीं हैं. लेकिन समुदाय में हम जिस प्रकार की निगरानी देख रहे हैं, हम मानते हैं कि कोई भी विसंगतियां चिकित्सकीय रूप से महत्वपूर्ण नहीं हैं. परिवर्तन कम हैं और लोगों को मिलने वाली देखभाल को प्रभावित नहीं करते. घंटों या दिनों तक रीडिंग देखने से भी बीमारी की गंभीरता को बेहतर ढंग से समझा जा सकता है. इसलिए अगर आपकी त्वचा सांवली है, तो भी आप घर पर पल्स ऑक्सीमीटर का उपयोग कर सकते हैं. इस बीच, पल्स ऑक्सीमीटर के निर्माता सॉफ्टवेयर मुद्दों को दुरूस्त करने की कोशिश कर रहे हैं.

क्या मुझे इसे खरीदना चाहिए?

अगर आप इसे वहन कर सकते हैं. तो हां. कई स्वास्थ्य पेशेवरों को चिंता है कि समुदाय में मामलों की संख्या में तेजी आती है रैपिड एंटीजन परीक्षणों की तरह, सबको ऑक्सीमीटर मिलना भी मुश्किल हो सकता है. जिस तरह अधिकांश घरों में थर्मामीटर होता है, उसी तरह एक साधारण कम लागत वाला ऑक्सीमीटर हम सभी को अपने स्वास्थ्य की स्थिति पर निगरानी रखने और अगर हालात बिगड़ते हैं तो तत्काल जरूरी कदम उठाने में मदद कर सकता है.

Check Also

01_10_2022-01_10_2022-iran_hijab_row_23111726_9141949

ईरान हिजाब रो: ईरान में गरमा गया हिजाब विवाद, पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच हिंसक झड़प में 19 लोगों की मौत

वाशिंगटन: ईरान में 22 वर्षीय लड़की महसा अमिनी की मौत के बाद सरकार विरोधी प्रदर्शनों के …