कुरुक्षेत्र: नेता का बेहतर व्यक्तित्व, कुशल वक्ता के साथ-साथ अच्छी छवि का होना जरूरी : धनखड़

20dl_m_721_20092022_1

कुरुक्षेत्र,20 सितंबर(हि. स.) । कुरुक्षेत्र के गीता ज्ञान संस्थान में चल रहे भाजपा युवा मोर्चा हरियाणा के प्रदेश प्रशिक्षण वर्ग के दूसरे दिन भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष ओमप्रकाश धनखड़ ने मुख्य रूप से शामिल हुए। इस दौरान भाजयुमो के प्रदेशाध्यक्ष राहुल राणा के नेतृत्व में युवा भाजपा पदाधिकारियों ने ओमप्रकाश धनखड़ का स्वागत किया। प्रशिक्षण वर्ग शिविर को संबोधित करते हुए ओमप्रकाश धनखड़ ने कहा कि व्यक्तित्व एवं नेतृत्व विकास विषयों को लेकर विचार रखें।

उन्होंने कहा कि नेता कैसा हो और उनमें कौन-कौन से गुण होने चाहिए, इस पर चर्चा करते हुए उन्होंने कहा हमें समाज का मार्गदर्शन करना है तो समाज में अपनी बात रखने की कला, बेहतर व्यक्तित्व, अच्छी छवि के साथ-साथ कुशल वक्ता भी होना चाहिए। उन्होंने कहा कि जैसे हमारे प्रधानमंत्री पूरे भारत में अपने विचार पहुंचाने की क्षमता रखते हैं, उसी प्रकार अटल जी में भी ऐसी क्षमता थी।उन्होंने कहा कि जिसका कर्म, वाणी और मन एक है, वही व्यक्ति श्रेष्ठ है। इन गुणों के चलते ही एक अच्छा कार्यकर्ता का निर्माण संभव है। ऐसे कार्यकर्ता लंबे समय तक समाज को प्रभावित कर सकते हैं। कथनी और करनी में अंतर नहीं होना चाहिए।

दूसरे सत्र में भाजपा युवा मोर्चा के राष्ट्रीय महामंत्री रोहित चल ने कहा कि कार्यकर्ता की भूमिका एवं जिम्मेदारी पार्टी में मुख्य होती है क्योंकि कार्यकर्ताओं की मेहनत की बदौलत ही पार्टी सत्ता तक पहुंचती है और सत्ता में आने के बाद कार्यकर्ताओं की ही जिम्मेवारी होती है कि वह जनता के बीच जाकर उनकी समस्याओं को दूर करवाने में अपना दायित्व निभाए। उन्होंने कहा कि कार्यकर्ता निर्माण तभी संभव है, जब कार्य पद्धति से जुड़ी बातें व्यवहार में लायेंगे। भारतीय जनता पार्टी आज विश्व का सबसे बड़ा संगठन है, इसका कारण यह है कि भाजपा के पास कार्यपद्धति से तैयार कार्यकर्ता हैं। प्रशिक्षण वर्ग शिविर के तीसरे सत्र में राष्ट्रीय सोशल मीडिया इंचार्ज कपिल परमार ने अपने वक्तव्य में कार्यकर्ताओं में जोश भरते हुए कहा कि श्रेष्ठ, क्षमतावान योग्य कार्यकर्ता अगर कम भी हैं तो भी वे समाज में सकारात्मक छाप छोड़ सकते हैं। अगर हरियाणा में ऐसे कार्यकर्ता हैं तो वे आने वाले समय में भी निश्चित ही चुनाव जीत सकते हैं। हमारे पास जितने ज्यादा सक्रिय नेता होंगे, उतना ही हम पूरे भारत में अपना नेतृत्व कायम कर सकते हैं।

Check Also

d2268d9d609632d5a2138e4604c8509a1662949423717248_original

वेल डन इंडिया! कोरोना के दौरान गरीब देशों की मदद का हाथ, विश्व बैंक ने की तारीफ

भारत पर विश्व बैंक covid:  भारत को कोरोना महामारी में उसके काम के कारण विश्व स्तर …