फेफड़ों के व्यायाम: जानिए स्पाइरोमीटर का उपयोग करने का सही तरीका

सांस लेने में कठिनाई होती है। इसलिए फेफड़ों को होने वाले नुकसान को कम करने और उन्हें मजबूत बनाने के लिए वायरस से पहले और बाद में व्यायाम करना महत्वपूर्ण हो जाता है। ब्रीदिंग एक्सरसाइज करने से फेफड़े मजबूत होते हैं और आपके लिए सांस लेना आसान हो जाता है। फेफड़ों की क्षमता मापने के लिए आप स्पाइरोमीटर का उपयोग कर सकते हैं।

स्पाइरोमीटर क्या है ?

इंसेंटिव स्पाइरोमीटर एक हैंडहेल्ड डिवाइस है जो सर्जरी या फेफड़ों की बीमारी के बाद आपके फेफड़ों को ठीक होने में मदद करता है। स्पाइरोमीटर की मदद से सांस लेना और छोड़ना आपके फेफड़ों को सक्रिय और तरल मुक्त रखने में मदद करता है। जब आप स्पाइरोमीटर की मदद से सांस लेने का व्यायाम करते हैं, तो उपकरण के अंदर एक गेंद या पिस्टन ऊपर उठता है, जिसका उपयोग आपकी सांस की मात्रा को मापने के लिए किया जाता है।

यह उपकरण निमोनिया, ब्रोंकाइटिस या कोविड-19 जैसी सांस की बीमारियों से उबरने के लिए फायदेमंद है। इस उपकरण का प्रयोग दूसरों के सामने न करें, क्योंकि इससे संक्रमण का खतरा रहता है।

स्पाइरोमीटर का उपयोग करने का सही तरीका?

एक स्पाइरोमीटर का उपयोग साँस लेना और साँस छोड़ना दोनों के लिए किया जा सकता है। इसे सीधे सांस लेने के लिए पकड़ें और सांस छोड़ने के लिए उल्टा करें।

कदम

1: आराम से कुर्सी पर या अपने बिस्तर के कोने पर बैठ जाएं।

2: अपने स्पाइरोमीटर को आँख के स्तर पर सीधा रखें।

3: माउथपीस को मुंह में रखें और होठों को कसकर बंद कर लें, ताकि हवा बाहर न निकले।

4: मुंह से धीरे-धीरे सांस लें और गेंदों को जितना हो सके ऊपर रखने की कोशिश करें। ऐसा 5 बार करें।

5: अब स्पाइरोमीटर को उल्टा कर दें और बॉल्स को जितना हो सके ऊपर रखने की कोशिश करें।

सांस लेने में दिक्कत न हो इसलिए बीच-बीच में आराम करें। यदि आप स्पाइरोमीटर का उपयोग करते समय कमजोर या बेहोश महसूस करते हैं, तो व्यायाम तुरंत बंद कर दें। इसे 10-12 बार से ज्यादा न करें, क्योंकि इससे सांस लेने में तकलीफ हो सकती है।

Check Also

526142-1349073-belly-fat-pista1

वजन घटाने के उपाय: इस सूखे मेवे को खाने से मोम की तरह पेट की चर्बी पिघलती है और याददाश्त में सुधार

वजन घटाने के लिए पिस्ता: हम सभी जानते हैं कि सूखे मेवे और नट्स खाने …