क्या फिर से राजनीति में शामिल हो रहे साउथ के सुपरस्टार Chiranjeevi? अभिनेता से जानें क्या है खबर का सच

टॉलीवुड मेगास्टार चिरंजीवी (Chiranjeevi) ने हाल ही में ये साफ तौर पर स्पष्ट कर दिया है कि वह राजनीति से दूर रह रहे हैं. उन्होंने उन मीडिया रिपोर्टों को सट्टा करार दिया है जिनमें ये कहा जा रहा था कि आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाई.एस. जगन मोहन रेड्डी (YS Jagan Mohan Reddy) ने उन्हें राज्यसभा सीट (Chiranjeevi news) की पेशकश की है. हाल ही में चिरंजीवी राज्य में सिनेमा टिकटों के प्राइज के विवाद पर चर्चा के लिए अमरावती में मुख्यमंत्री से मिले थे. तभी से उनकी राजनीति में शामिल होने की अटकलें तेज हो गई थीं. हालांकि, अब उन्होंने इस बात से इनकार किया कि उन्हें राज्यसभा सीट की पेशकश की गई थी.

राजनीति में फिर शामिल होने की खबरों पर चिरंजीवी का रिएक्शन

66 वर्षीय चिरंजीवी ने हाल ही में अपने आधिकारिक सोशल अकाउंट पर एक ट्वीट किया है जिस पर रिएक्शन की बाढ़ सी आ गई है. उन्होंने अपने पोस्ट में लिखा है, ‘मीडिया के एक वर्ग में खबरें है कि उन्हें राज्यसभा भेजा जा रहा है जो कि पूरी तरह से निराधार हैं या कहें अफवाह है. उन्होंने मीडिया से अपील की है कि इस तरह की अटकलबाजी वाली खबरें न छापें और इस चर्चा पर पूर्ण विराम लगाएं. चिरंजीवी ने आगे बताया कि वह फिल्म इंडस्ट्री (South film industry issue) से जुड़े मामलों पर चर्चा करने के लिए मुख्यमंत्री से मिले थे न कि राजनेता बनने के लिए.’

 

चिरंजीवी को मिला विजय देवरकोंडा का सपोर्ट

चिरंजीवी के इस पर लाइगर स्टार विजय देवरकोंडा (Vijay Deverakonda) का ट्वीट आया. वे मेगास्टार के समर्थन में सामने आए और ट्वीट किया, ‘मेरा पूरा सपोर्ट है. #GiveNewsNotViews..’ आपको बता दें कि चिरंजीवी ने मुख्यमंत्री के निमंत्रण पर उनके आधिकारिक आवास पर उनसे मुलाकात की थी और उनकी लंच मीटिंग डेढ़ घंटे तक चली थी. बैठक के बाद उन्होंने मीडिया को बताया था कि जगन मोहन रेड्डी ने फिल्म इंडस्ट्री, एग्जिबिटर्स और थिएटर मालिकों की ओर से उनके द्वारा उठाए गए मुद्दों पर सकारात्मक प्रतिक्रिया दी है. बैठक को फ्रूटफुल बताते हुए चिरंजीवी ने आशा व्यक्त की कि सीएम ने उनके द्वारा बताए गए इशू को समझा है और जल्द ही सभी समस्याओं का समाधान किया जाएगा. चिरंजीवी ने कहा था कि मुख्यमंत्री ने उन्हें आश्वासन दिया कि पारस्परिक रूप से स्वीकार्य निर्णय लिया जाएगा.

 

चिरंजीवी का राजनीतिक सफर

जानकारी के लिए आपको बता दें कि लोकप्रिय अभिनेता ने आंध्र प्रदेश में चुनाव से कुछ महीने पहले 2009 में प्रजा राज्यम पार्टी (पीआरपी) बनाकर राजनीति में प्रवेश किया था. हालांकि, उनकी पार्टी 294 सदस्यीय विधानसभा में सिर्फ 18 सीटें जीत सकी. बाद में उन्होंने पीआरपी का कांग्रेस में विलय कर दिया था. 2012 में वे राज्यसभा के लिए चुने गए और केंद्र में कांग्रेस के नेतृत्व वाली यूपीए सरकार में मंत्री बनाए गए. वहीं 2014 में आंध्र प्रदेश के विभाजन के बाद चिरंजीवी ने राजनीति को गुडबाय बोला और फिल्मों में वापसी की.

Check Also

बर्थडे स्पेशल: 64 की हुईं मशहूर गायिका कविता कृष्णमूर्ति

मशहूर गायिका कविता कृष्णमूर्ति मंगलवार (25 जनवरी) को 64 वर्ष की हो जाएंगी। देश-दुनिया में …