Kerala: नन के साथ यौन शोषण का मामला, विशेष अदालत ने बिशप फ्रैंको मुल्लकल को सभी आरोपों से बरी किया

 

केरल की विशेष अदालत ने शुक्रवार को नन से रेप (Kerala Nun Rape Case) के मामले में बिशप फ्रैंको मुल्लकल (Bishop Franco Mulakkal) को बरी कर दिया है. मुल्लकल पर नन के साथ 2014 और 2016 के बीच कई बार रेप करने का आरोप लगा था. फ्रैंको मुलक्कल भारत के पहले कैथोलिक बिशप थे, जिन्हें नन का यौन शोषण करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया. कोट्टायम (Kottayam) की अदालत ने 100 दिनों से अधिक समय तक चले मुकदमे के बाद उन्हें सभी आरोपों से बरी कर दिया है. साल 2018 में जालंधर सूबा के तहत आने वाली एक मण्डली की नन ने मुल्लकल पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया था.

 

मुल्लकल पर आरोप था कि उन्होंने जालंधर सूबे का बिशप रहते हुए अपने कॉन्वेंट की यात्रा के दौरान एक नन के साथ कई बार यौन शोषण किया था. मामले में विशेष जांच टीम तैयार की गई थी (Charges Against Bishop Franco Mulakkal). जो सितंबर 2018 में गिरफ्तार हुए बिशप पर लगे सभी आरोपों की जांच कर रही थी. उनपर नन को गलत तरीके से कैद करने, बलात्कार, अप्राकृतिक यौन संबंध बनाने और आपराधिक धमकी देने का आरोप लगाया गया था. मामले में नवंबर 2019 में सुनवाई शुरू हुई थी.

खबर के प्रकाशन पर थी रोक

इस मामले की सुनवाई के दौरान अदालत ने प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया को उसकी अनुमति के बिना मुकदमे से संबंधित कुछ भी प्रकाशित करने पर रोक लगा दी थी. मामले में अदालत का फैसला आते ही बिशप अदालत से बाहर चले गए (Kerala Nun Case Verdict). उन्होंने मीडिया द्वारा पूछे जा रहे सवालों का भी जवाब नहीं दिया. साथ ही हाथ जोड़ते हुए भगवान का शुक्रिया किया. इस मामले में करीब तीन साल पहले चार्जशीट दाखिल की गई थी. जिसमें 83 गवाहों के बयान दर्ज थे. साथ ही लैपटॉप फोन, समेत 30 सबूत जब्त किए गए थे.

नन के लिए झटका है फैसला

इस मामले में केरल पुलिस को शिकायत कराई गई थी. जिसमें बताया गया कि फ्रैंको ने 2014 में हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) के एक गेस्ट हाउस में नन के साथ रेप किया था. फिर दो साल में नन के साथ 14 बार रेप किया गया. हालांकि अदालत ने इन सभी आरोपों से अब मुल्लकल को बरी कर दिया है. अदालत का फैसला नन के लिए बड़ा झटका है. जिसने पहले ही आरोप लगाने के कारण भारी कीमत चुकाई है. उसने महज 15 साल की उम्र में नन बनने का विचार किया था. उसे ना केवल कॉन्वेंट से बदखल कर दिया गया, बल्कि बिशप के समर्थकों ने भी कई बार धमकी दीं और बदनाम करने की कोशिश की.

Check Also

पॉलीग्राफ टेस्ट में हत्यारे आफताब का कबूलनामा, मैंने श्रद्धा को मारा- मुझे कोई मलाल नहीं

दिल्ली के महरौली के विवादित श्रद्धा हत्याकांड में एक बड़ी जानकारी सामने आई है . पॉलीग्राफ टेस्ट के …