कर्नाटक पुलिस ने ट्रेन की बोगी में आपराधिक घटनाओं को रोकने के लिए शुरू की विशेष पहल

कर्नाटक पुलिस ने ट्रेन के अंदर होने वाली किसी भी तरह घटनाओं, चोरी और यात्रियों के छेड़छाड़ पर रोक लगाने के लिए एक नई पहल शुरू की है. देश में यह पहली बार है जब किसी राज्य की पुलिस रेलवे स्टेशन और ट्रेन की बोगियों में होने वाली आपराधिक घटनाओं पर रोक लगाने के लिए कदम उठा रही है. इसके तहत कोई भी यात्री आपात स्थिति में राज्य पुलिस से संपर्क कर मदद ले सकेंगे.

हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, रेलवे पुलिस भी राज्य पुलिस की इस पहल में मदद करने का भरोसा दिया है. यह सुविधा राज्य के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (ADG) भास्कर राव और रेलवे के पुलिस अधीक्षक (SP) श्री गौरी के संयुक्त प्रयास से शुरू की गई है. शुरुआती तौर पर, अधिकारियों ने छावनी, यशवंतपुर और बेंगलुरु रेलवे स्टेशन पर पब्लिक मीटिंग आयोजित की.

कर्नाटक के अलग-अलग शहरों के रेलवे स्टेशन के पुलिस प्रभारी खुद स्टेशन का दौरा करेंगे और यात्रियों एवं रेलवे स्टेशन के उपयोगकर्ताओं को विजिटिंग कार्ड देंगे. इसके बाद वे कर्मचारियों को रेलवे स्टेशन और ट्रेन को सुरक्षित रखने के तरीके बताएंगे, जिसमें आपराधिक तत्वों और चोरी की घटनाओं से बचाव शामिल हैं.

‘हैप्पी टू हेल्प’ कार्ड बांटेगी राज्य पुलिस

एडीजी भास्कर राव ने बताया, “यात्रियों को संबंधित इलाके के पुलिस अधिकारियों के मोबाइल नंबर के साथ ‘हेप्पी टू हेल्प’ कार्ड दिए जाएंगे. यह पहल पूरे राज्य में चरणबद्ध तरीके से शुरू की जाएगी.” आपराधिक तत्वों द्वारा परेशान किए जाने यात्री उन नंबरों पर कॉल या वॉट्सऐप मैसेज के जरिए पुलिस अधिकारी से संपर्क कर मदद मांग सकेंगे.

बेंगलुरु सेंट्रल, यशवंतपुर, छावनी, बांगरपेट, मंड्या, हासन और अर्सीकेरे में पुलिस अधिकारी पहले ही विजिटिंग कार्ड प्रिंट करवा चुके हैं और वे जल्द इसे रेलवे का इस्तेमाल करने वाले लोगों में बांटेंगे. राव ने कहा कि अगले कुछ दिनों में 18 रेलवे स्टेशनों पर यह सुविधा शुरू हो जाएगी.

पुलिस विभाग के आंकड़ों के मुताबिक, पिछले तीन सालों में रेलवे स्टेशन और ट्रेन की बोगियों में आपराधिक घटनाओं में भारी कमी आई है. 2018 में इस तरह के 1,496 मामले दर्ज किए गए थे, 2019 में 1,870 और 2020 में 755 केस दर्ज हुए थे.

Check Also

Viral News: दूल्हे ने दहेज में मांगा 21 नाखूनों वाला कछुआ और काला कुत्ता, केस दर्ज

औरंगाबाद: दहेज (Dowry) में रुपये, गहने, गाड़ी और महंगे गिफ्ट मांगने के बारे में आपने कई …