जुमे की नमाज पर कानपुर पुलिस अलर्ट, सीसीटीवी कैमरें व ड्रोन से हो रही निगरानी

कानपुर, 24 जून (हि.स.)। तीन जून को जुमे की नमाज के बाद हुए बवाल को देखते हुए कमिश्नरेट पुलिस अलर्ट मोड़ पर है। शुक्रवार को होने वाली नमाज से एक दिन पहले से ही पुलिस ने संवेदनशील और घनी आबादी वाले क्षेत्रों में चौकसी बढ़ा दी है। यह सिलसिला नमाज खत्म होने के बाद ही थमेगा और पुलिस कमिश्नर से लेकर जिलाधिकारी पुलिस बल के साथ गश्त कर रहे हैं। इसके साथ ही सीसीटीवी और ड्रोन कैमरों से भी बराबर निगरानी की जा रही है।

बेकनगंज की नई सड़क पर तीन जून को जुमे की नमाज के बाद हिंसा भड़क गई थी जो बाद में प्रदेश के अन्य जनपदों तक पहुंच गई थी। इसके बाद पुलिस ने कार्रवाई करते हुए ताबड़तोड़ गिरफ्तारियां शुरू की और एसआईटी की जांच बराबर चल रही है। जांच के साथ ही कमिश्नरेट पुलिस हर जुमे की नमाज पर सख्ती बरतना शुरू कर दी। इसी क्रम में शुक्रवार को फिर होने वाली जुमे की नमाज से एक दिन पहले ही पुलिस ने तैयारियां पूरी कर ली और आज सुबह से ही भारी फोर्स के साथ पुलिस कमिश्नर विजय सिंह मीना और जिलाधिकारी विशाख जी अय्यर उपद्रवी इलाकों में गश्त कर रहे हैंं। इसके अलावा उपद्रवी इलाकों में लगे सीसीटीवी कैमरों के साथ ही ड्रोन कैमरों से बराबर निगरानी की जा रही है। अतिसंवेदनशील इलाकों की बड़ी बड़ी इमारतों में पुलिस बल को दूरबीन के साथ तैनात किया गया है। पुलिस बल के साथ-साथ आधुनिक तकनीकी का भी बेहतर इस्तेमाल हो रहा है।

पुलिस कमिश्नर ने बताया कि उत्तर प्रदेश पुलिस के साथ पीएसी, आरएएफ को तैनात किया गया है। लोगों से अपील की गई है कि किसी भी अफवाह पर ध्यान न दें। किसी को भी किसी प्रकार की दिक्कत है तो पुलिस के अधिकारियों से संपर्क करें। शहर में अमन चैन बरकरार रहे इसके लिए शहरवासी पुलिस की मदद करें। नमाज अदा करने के बाद सभी नमाजी शांतिपूर्वक अपने घरों को लौट जाएं, यह अपील पुलिस और धर्म गुरूओं की ओर से बराबर की जा रही है। बताया कि पुलिस मित्र के गठन से उपद्रवी इलाकों में सौहार्द कायम हो रहा है और पुलिस उपद्रवियों के खिलाफ बराबर कार्रवाई कर रही है।

एक नजर में सुरक्षा

आठ ड्रोन कैमरे लगाए गये हैं और 50 वीडियोग्राफर जगह-जगह की वीडियो रिकॉर्डिंग कर रहे हैं। सभी प्रमुख चौराहों को पीटीजेड कैमरों से लैस किया गया है। प्रमुख चौराहे व महत्वपूर्ण स्थान पर पब्लिक एड्रेस सिस्टम है। रैपिड ऐक्शन फोर्स मुस्तैदी से ड्यूटी कर रही है। प्रमुख स्थानों पर वाटर कैनन और फायर टेंडर की सुविधा है। पांच कंपनी पीएसी के साथ-साथ 2400 पुलिसकर्मी तैनात हैं। पांच एसपी, पांच एडिशनल एसपी, 11 डिप्टीएसपी, 64 इंस्पेक्टर, 286 उप निरीक्षक ड्यूटी कर रहे हैं। सादे वस्त्रों में एलआईयू व पुलिसकर्मी हर जगह की निगरानी ले रहे हैं। 2000 सिविल डिफेंस” के वालंटियर्स तथा 1834 नवनियुक्त “पुलिस युवा मित्र” ड्यूटी कर पुलिस को सहयोग कर रहे हैं।

Check Also

दुनिया का सबसे बड़ा तानपुरा पंडित लालमणि मिश्रा संग्रहालय में स्थित है

वाराणसी: क्या आप दुनिया के सबसे बड़े तानपुरा के बारे में जानते हैं? दुनिया का सबसे बड़ा …