निवेशकों को राहत मिली है क्योंकि बैल एक और दिन स्थिर रहते

n4lpbuuO3nqWHoV7aBnszxCzjVgNUNNlZoPAtpTz

भारतीय शेयर बाजारों ने सप्ताह के दूसरे सत्र के दौरान अपनी बढ़त बनाए रखी क्योंकि बैलों की पकड़ मजबूत थी। बेंचमार्क निफ्टी ने 17,800 के स्तर को पार किया। व्यापक आधार खरीदारी के बीच बीएसई सेंसेक्स 578.5 अंक बढ़कर 59,720 पर बंद हुआ। जबकि निफ्टी 194 अंक बढ़कर 17,816 पर बंद हुआ था। लार्जकैप में भारी लिवाली से निफ्टी के 50 में से 45 काउंटर सकारात्मक बंद दिखा रहे थे। जबकि केवल 5 काउंटरों ने नरमी के संकेत दिए। व्यापक बाजार में बीएसई में भी खरीदारी के मुकाबले करीब दो शेयरों में गिरावट देखी गई। वोलैटिलिटी इंडेक्स 6 फीसदी की गिरावट के साथ 18.79 पर बंद हुआ।

अमेरिकी बाजार में सोमवार को सुधार देखने को मिला। जिसके पीछे एशियाई बाजार मंगलवार को सकारात्मक दायरे में कारोबार कर रहे थे। गैप-अप ओपनिंग के साथ खुलने के बाद भारतीय बाजार में भी सुधार जारी रहा। हालांकि, दोपहर में इसने इंट्रा-डे पीक बनाया और धीरे-धीरे गिरावट जारी रही। हालांकि, यह एक प्रतिशत से अधिक के सुधार के साथ बंद हुआ। खास बात यह रही कि निफ्टी 17,816 पर बंद हुआ। तकनीकी विश्लेषकों के मुताबिक निफ्टी ने आज फिर ब्रेकआउट दिखाया है। उसके लिए 18 हजार का बैरियर है। यदि इसे पार किया जाता है, तो और सुधार देखा जा सकता है। निफ्टी अपने दिन के उच्च स्तर 17,919.30 से 100 अंक नीचे बंद हुआ। हालांकि, सितंबर सीरीज के फ्यूचर्स ने हाजिर निफ्टी से 17,804 पर छूट के साथ बंद दिखाया। जो इंगित करता है कि लंबी स्थिति को कवर किया गया है। फेड एफओएमसी की दो दिवसीय बैठक आज से शुरू होगी। फेड बुधवार को दरों में बढ़ोतरी की घोषणा करेगा। बाजार की उम्मीद के मुताबिक 75 बेसिस प्वाइंट की बढ़ोतरी तय है।

जिससे डॉलर में मजबूती देखने को मिल रही है. जिसके पीछे अमेरिका की शॉर्ट टर्म यील्ड भी बढ़ी है। फंडामेंटल एनालिस्ट्स को महंगाई की चिंता को देखते हुए मार्केट में ज्यादा करेक्शन की संभावना नहीं दिख रही है। उनके मुताबिक निफ्टी के लिए 17,300 अहम सपोर्ट है। जिसके नीचे 16,500 तक की कटौती भी संभव है। वे बाजार में उच्च अस्थिरता की उम्मीद कर रहे हैं।

फार्मा सेक्टर ने मंगलवार को तेजी बाजार का नेतृत्व किया। फार्मा सेक्टर, जो कुछ समय के लिए एक महत्वपूर्ण आउटपरफॉर्मर रहा है, को ओपन से क्लोज में खरीदा गया और फार्मा इंडेक्स दिन के उच्च स्तर पर 3 प्रतिशत से अधिक ऊपर बंद हुआ। 5.4 फीसदी की छलांग के साथ सिप्ला का सबसे बड़ा योगदान रहा। इसके अलावा ल्यूपिन, सन फार्मा, जायडस लाइफ, बायोकॉन, डॉ रेड्डीज लैब्स, अरबिंदो फार्मा, टोरेंट फार्मा और एल्केम लैब में भी 2 फीसदी से ज्यादा का सुधार देखा गया। ऑटो सेक्टर ने भी बाजार को सहारा दिया। निफ्टी ऑटो इंडेक्स 1.66 फीसदी की बढ़त के साथ बंद हुआ। ऑटो काउंटरों में ट्यूब निवेश 6.24 फीसदी के साथ सबसे अच्छा प्रदर्शन करने वाला रहा। इसके अलावा टीवीएस मोटर, भारत फर्ज, आयशर मोटर्स, हीरो मोटोकॉर्प, टाटा मोटर्स, अमर राजा बैटरीज, बजाज ऑटो, महिंद्रा एंड महिंद्रा, अशोक लीलैंड भी एक फीसदी से पांच फीसदी तक की बढ़त के संकेत दे रहे थे। निफ्टी मेटल इंडेक्स 1.6 फीसदी की तेजी के साथ बंद हुआ।

मुख्य रूप से टाटा स्टील 2.7 फीसदी की बढ़त के साथ बंद हुआ। जबकि सेल, वेलस्पन कॉर्प, हिंडाल्को, जिंदल स्टील, नाल्को, अदानी एंटरप्राइजेज, जेएसडब्ल्यू स्टील, हिंदुस्तान जिंक जैसे काउंटरों में एक फीसदी से ज्यादा सुधार दिखा। निफ्टी आईटी इंडेक्स ने दूसरे दिन सकारात्मक बढ़त दिखाई। जिसमें मिडकैप आईटी शेयरों में Cofarge, Mphasis, L&T Technology, HCL Tech, Tech Mahindra, L&T Infatech में एक फीसदी से ज्यादा की तेजी आई। लार्ज-कैप में, एकमात्र जोर ने नकारात्मक बंद का संकेत दिया। टीसीएस अपने इंट्रा-डे पीक से काफी नीचे बंद हुआ। निफ्टी एफएमसीजी भी तिमाही सुधार के साथ बंद हुआ। हालांकि, यह दिन के अंत के करीब बंद हुआ। एफएमसीजी काउंटरों में वरुण बेवरेजेज 4 फीसदी के साथ सबसे अच्छा प्रदर्शन करने वाला रहा।

जहां मैरिको इंडस्ट्रीज में 3 फीसदी, इमामी में 3 फीसदी, गोदरेज कंज्यूमर में 2.6 फीसदी, ब्रिटानिया में 1.7 फीसदी और डाबर इंडिया में 1.6 फीसदी का सुधार हुआ। आईटीसी और हिंदुस्तान यूनिलीवर अपने इंट्रा-डे हाई से गिरते हुए मामूली सकारात्मक बंद दिखा रहे थे। निफ्टी एनर्जी इंडेक्स 0.5 फीसदी ऊपर बंद हुआ। जिसमें अदानी ग्रीन एनर्जी 2.3 फीसदी के साथ टॉप परफॉर्मर रही। इसके अलावा ओएनजीसी, टाटा पावर, गेल, बीपीसीएल, एनटीपीसी में सुधार देखा गया। निफ्टी रियल्टी इंडेक्स 1.7 फीसदी की तेजी के साथ बंद हुआ। जिसमें ब्रिगेड एंटरप्राइज में 4.3 प्रतिशत का सुधार हुआ। ओबेरॉय रियल्टी में 2.5 फीसदी, फीनिक्स मिल्स में 2 फीसदी, डीएलएफ में 1.8 फीसदी और सनटेक रियल्टी में 1.2 फीसदी की तेजी आई। निफ्टी मीडिया भी एक फीसदी मजबूती के संकेत दे रहा था। जिसमें टीवी18 ब्रॉडकास्ट 4.4 फीसदी, नेटवर्क18 4 फीसदी, टीवी टुडे नेटवर्क 3.8 फीसदी और डिश टीवी 3 फीसदी ने दमदार प्रदर्शन किया।

एनएसई डेरिवेटिव काउंटरों के लिए, अपोलो हॉस्पिटल्स 6 प्रतिशत की बढ़त के साथ शीर्ष प्रदर्शन करने वाला था। इसके अलावा सीजी कंज्यूमर 6 फीसदी, टीवीएस मोटर 5.35 फीसदी, एमसीएक्स इंडिया 5 फीसदी, रेन इंडस्ट्रीज 4.5 फीसदी, भारत फर्ज 4.5 फीसदी, सन फार्मा 4.3 फीसदी, एबट इंडिया 4.3 फीसदी, जीएसपीसी 4 फीसदी, बलरामपुर चाइनीज 4 फीसदी और लौरस लैब्स 4 फीसदी है। सुधार दिख रहा था। वहीं, केन फुनी होम्स 4 फीसदी से ज्यादा नरमी के साथ बंद हुआ। ग्रैन्यूल्स इंडिया, मैक्स फाइनेंशियल, इंडिया सीमेंट्स, डेल्टा कॉर्प, जीएमआर इंफ्रा, हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स, एमआरएफ, नेस्ले और आईओसी गिरावट में थे। कई काउंटरों ने अपनी सबसे ऊंची चोटी दिखाई। इनमें सिप्ला, टीवीएस मोटर, एआईए इंजीनियरिंग, वरुण बेवरेजेज, आयशर मोटर्स, गुजरात फ्लोरो और अंबुजा सीमेंट्स शामिल हैं। दूसरी ओर, मास्टेक और मेट्रोपोलिस हेल्थ ने अपना वार्षिक निम्न स्तर दिखाया।

Check Also

gZGfm86CtVNFbKE8LgvmU2crvNX09Vc5Y2bCooss

वरिष्ठ नागरिकों के लिए उपयोगी आयकर-निवेश योजना

धारा 80सी के तहत निश्चित बचत और निवेश के माध्यम से रु. डिडक्शन बेनिफिट के मामले …