योग हमारे देश के ऋषि-मुनियों द्वारा दी गयी अमूल्य धरोहर: जयवीर सिंह

लखनऊ, 20 जून (हि.स.)। उत्तर प्रदेश के पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री व वाराणसी मण्डल के प्रभारी मंत्री जयवीर सिंह विश्व योग दिवस के अवसर पर 21 जून को काशी में नमों घाट पर आयोजित योग कार्यक्रम में सुबह छह बजे शामिल होकर योगाभ्यास करेंगे।

पर्यटन मंत्री जयवीर सिंह ने बताया कि योग हमारे देश के ऋषि-मुनियों द्वारा दी गयी अमूल्य धरोहर है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की दृढ़ इच्छा शक्ति और दूर दृष्टि से विश्व संस्था संयुक्त राष्ट्र संघ ने योग को अन्तर्राष्ट्रीय दिवस घोषित किया था। कई शताब्दियों पहले भारत की धरती पर महर्षि पतंजलि ने योग सूत्र नामक अमर ग्रन्थ की रचना की थी। इस समय दुनिया के 200 देश योग को अपनाये हुए हैं।

जयवीर सिंह ने बताया कि योग करोड़ों लोगों के दैनिक जीवन का हिस्सा है। योग सुंदर जीवन जीने का मार्ग भी है। दुनिया को एक उपहार के रूप में योग वैश्विक चेतना में गहराई से समाया हुआ है। उन्होंने बताया कि योग बिमारी, मानसिक तनाव, अशांति से मुक्ति की यात्रा के रूप में लगातार लोकप्रिय होता जा रहा है। मुख्यमंत्री ने इस कार्यक्रम को सफल बनाने की अपेक्षा की है।

पर्यटन मंत्री ने बताया कि 21 को योग दिवस की थीम “मानवता के लिए योग” घोषित की गयी है। इस अवसर पर देश के 25 करोड़ लोगो को योग से जोड़ने का संकल्प लिया गया है। उत्तर प्रदेश सरकार ने 3.5 करोड़ लोगो को योग से जोड़ने का लक्ष्य निर्धारित किया है।

Check Also

वाराणसी के दिव्यांग छात्र हनुमंत ने पहले ही प्रयास में पार की सिविल सर्विस की पहली बाधा

वाराणसी, 02 जुलाई (हि.स.)। जीवन में कुछ हासिल करने का जज्बा हो तो कोई भी …