अंतर्राष्ट्रीय योग दिवसयोग जीवन का एक तरीका है: पीएम मोदी

मैसूर : मैसूर जैसे आध्यात्मिक केंद्रों ने जिस योग ऊर्जा को सदियों से पोषित किया है, वह आज वैश्विक स्वास्थ्य को दिशा दे रही है. आज योग वैश्विक सहयोग का स्तंभ बनता जा रहा है। मोदी ने यह भी उल्लेख किया कि आज लोगों को योग के कारण स्वस्थ जीवन का विश्वास मिलता है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज आठवें अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर कर्नाटक के मैसूर पैलेस मैदान में सामूहिक योग प्रदर्शन में हिस्सा लिया। इस मौके पर उन्होंने सभी को योग दिवस की शुभकामनाएं दी और योग के फायदों के बारे में बताया। इस बार प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, योग को अतिरिक्त काम के तौर पर लेने की जरूरत नहीं है. मैं योग जानना चाहता हूं, मैं जीना चाहता हूं, मैं योग का अभ्यास करना चाहता हूं, मैं भी योग को स्वीकार करना चाहता हूं।

 

विश्व के लोगों के लिए योग आज केवल हमारे जीवन का हिस्सा नहीं है, यह जीवन का एक तरीका है। “जब हम योग के साथ जीना शुरू करते हैं, तो योग दिवस हमारे लिए स्वास्थ्य, खुशी और शांति का जश्न मनाने का एक तरीका होगा,” उन्होंने कहा।

 

15,000 लोगों के साथ योग का अभ्यास करने से पहले पीएम मोदी ने कहा कि इस पूरी दुनिया की शुरुआत हमारे शरीर और आत्मा से होती है. ब्रह्मांड की शुरुआत हमसे होती है और योग हमें अपने भीतर की हर चीज से अवगत कराता है। जागरूकता की भावना पैदा करता है। आप कितने भी तनाव में क्यों न हों, कुछ मिनटों का ध्यान आपको शांत करता है, आपकी उत्पादकता बढ़ाता है। योग हमें शांति देता है। शांति केवल व्यक्तियों के लिए नहीं है। योग हमारे समाज में शांति लाता है। योग हमारे राष्ट्रों और विश्व में शांति लाता है और योग हमारे ब्रह्मांड में शांति लाता है। योग अब एक वैश्विक त्योहार बन गया है। योग सिर्फ एक व्यक्ति के लिए नहीं बल्कि पूरी मानवता के लिए है। इसीलिए ‘अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस’ की थीम ‘मानवता के लिए योग’ है। योग की यह शाश्वत यात्रा अनंत भविष्य की ओर जारी रहेगी: प्रधानमंत्री मोदी

Check Also

कच्छ दवा कारोबार का हब नहीं बन रहा है, है ना? रैपर के पास से एक बार फिर लाखों रुपये का नशीला पदार्थ बरामद

कच्छ : एक समय में पंजाब को ड्रग्स सहित ड्रग्स की तस्करी के लिए पूरे देश …