अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 2022: कर्नाटक के मैसूर में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि योग देश और दुनिया को शांति का संदेश देता है

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी कर्नाटक के मैसूर से अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस समारोह की अध्यक्षता करते हैं। इस बीच उन्होंने देश और दुनिया के सभी लोगों को 8वें अंतरराष्ट्रीय योग दिवस की शुभकामनाएं दीं। पीएम मोदी ने कहा कि भारत में मैसूर जैसे आध्यात्मिक केंद्रों द्वारा सदियों से जिस योग ऊर्जा का पोषण किया गया है, वह आज विश्व ऊर्जा को योग की ओर ले जा रही है। आज योग वैश्विक सहयोग का साझा आधार बनता जा रहा है। आज योग व्यक्ति को स्वस्थ जीवन का विश्वास दिला रहा है।

 

योग एक विश्व उत्सव बन गया है

पीएन मोदी ने कहा कि योग अब वैश्विक त्योहार बन गया है. योग सिर्फ एक व्यक्ति के लिए नहीं बल्कि पूरी मानवता के लिए है। इसलिए इस बार अंतरराष्ट्रीय योग दिवस की थीम मानवता के लिए योग है। “योग हमें शांति लाता है,” उन्होंने कहा। योग के माध्यम से शांति केवल व्यक्तियों के लिए नहीं है। योग हमारे समाज में शांति लाता है। योग हमारे देश और दुनिया में शांति लाता है।

ब्रह्मांड की शुरुआत शरीर और आत्मा से होती है

यह पूरा ब्रह्मांड हमारे अपने शरीर और आत्मा से शुरू होता है।

ब्रह्मांड हमारे साथ शुरू होता है।

योग हमें अपने अंदर की हर चीज से अवगत कराता है और जागरूकता की भावना पैदा करता है।

स्वतंत्रता के 75वें वर्ष में मनाया जा रहा है योग दिवस

पीएम मोदी ने कहा कि भारत में इस बार हम ऐसे समय में योग दिवस मना रहे हैं जब देश अपनी आजादी की 75वीं वर्षगांठ अमृत महोत्सव मना रहा है। योग दिवस की यह सर्वव्यापकता, यह स्वीकृति भारत की उस अमृत भावना की स्वीकृति है जिसने भारत के स्वतंत्रता संग्राम को ऊर्जा प्रदान की।

प्रधानमंत्री मोदी के संबोधन की मुख्य बातें

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर, इस बार, हम दुनिया भर में एक अनोखे तरीके से गार्जियन रिंग ऑफ योगा का उपयोग कर रहे हैं।

सूर्य के उदय के साथ ही विश्व के विभिन्न भागों में लोग सूर्य की गति के साथ योग कर रहे हैं।

दुनिया भर के लोगों के लिए योग न केवल आज हमारे जीवन का हिस्सा है, बल्कि यह जीवन का एक तरीका बनता जा रहा है।

हम कितने भी तनावपूर्ण क्यों न हों, कुछ मिनट का ध्यान हमें आराम देता है, जिससे हमारी उत्पादकता बढ़ती है। इसलिए हमें योग को अतिरिक्त कार्य के रूप में नहीं लेना चाहिए।

हमें योग को भी जानना है, हमें भी योग को जीना है।

हमें योग को प्राप्त करना है, हमें योग को भी अपनाना है।

तनाव दूर करता है योग

पीएम मोदी ने कहा कि पर्यावरण में हम कितने भी तनावपूर्ण क्यों न हों, कुछ मिनट का ध्यान हमें शांत करता है और हमारी उत्पादकता को बढ़ाता है। हमें योग को अतिरिक्त कार्य के रूप में नहीं लेना चाहिए। हमें योग को जानना है, हमें इसे जीना है, हमें इसे अपनाना है। जब हम योग को पुनर्जीवित करना शुरू करते हैं, तब योग दिवस हमारे लिए योग करने का नहीं बल्कि हमारे स्वास्थ्य, सुख और शांति का जश्न मनाने का एक साधन बन जाएगा।

Check Also

बकरे के लिए लाखों की बोली, लेकिन मालिक ने ‘इस’ वजह से बेचने से किया इनकार

उत्तराखंड: देशभर में 10 जुलाई को ईद मनाई जाएगी. त्योहार से पहले देश भर में बकरियां बेची …