Infosys का तीसरी तिमाही में मुनाफा 12 प्रतिशत बढ़ा, आय में 22 प्रतिशत की बढ़त

आईटी सेक्टर की प्रमुख कंपनी इंफोसिस ने अपने तीसरी तिमाही के नतीजे (Infosys Q3 Reaults) जारी कर दिये हैं. स्टॉक मार्केट (stock market) को दी गयी जानकारी के मुताबिक दिसंबर में खत्म हुई तिमाही में कंपनी के कंसोलिडेटेड नेट प्रॉफिट (consolidated net profit) में 12 प्रतिशत की बढ़त हुई है. वहीं ऑपरेशंस से आय (Revenue from operations) पिछले साल के मुकाबले 22 प्रतिशत बढ़ गयी है. बेहतर नतीजों के साथ ही कंपनी ने साल 2022 के लिये अपने आय के गाइडेंस भी बढ़ा दिये हैं.

कैसे रहे कंपनी के नतीजे

बीएसई पर दी गई रिलीज के अनुसार कंपनी का दिसंबर तिमाही में कंसोलिडेटेड नेट प्रॉफिट पिछले साल के मुकाबले 11.8 प्रतिशत की बढ़त के साथ 5809 करोड़ रुपये रहा है. पिछले साल कंपनी को 5197 करोड़ रुपये का फायदा हुआ था. वहीं कंपनी के मुताबिक इस दौरान कंपनी की ऑपरेशंस से आय पिछले साल के मुकाबले 22.91 प्रतिशत की बढ़त के साथ 31,867 करोड़ रुपये रही है जो कि एक साल पहले 25927 करोड़ रुपये थी. कंपनी ने जानकारी दी कि बड़ी डील हासिल करने के साथ तीसरी तिमाही में कुल कॉन्ट्रैक्ट वैल्यू 2.53 अरब डॉलर पर पहुंच गयी. इस दौरान कंपनी के ऑपरेटिंग मार्जिन 23.5 प्रतिशत के साथ बेहतर स्तरों पर रहे हैं. हालांकि इसमें पिछले साल के मुकाबले 1.9 प्रतिशत की कमी आई है.

रेवन्यू गाइडेंस में बढ़त

नतीजों के साथ ही कंपनी ने वित्त वर्ष 2021-22 के लिये आय के गाइडेंस को बढ़ाकर 19.5 प्रतिशत से 20 प्रतिशत के बीच कर दिया है. इससे पहले वित्त वर्ष के लिये आय का गाइडेंस 16.5 प्रतिशत से 17.5 प्रतिशत के बीच था. तिमाही के दौरान कंपनी की डिजिटल सेग्मेंट से आय कुल आय का 58.5 प्रतिशत रही है. वहीं सितंबर तिमाही में ये हिस्सा 56.1 प्रतिशत था. कंपनी के मुताबिक डिजिटल के जरिये आय तिमाही के दौरान 248 करोड़ डॉलर रही है, जबकि कुल आय 425 करोड़ डॉलर रही है. डिजिटल सेग्मेंट से आय पिछले साल के मुकाबले 41.2 प्रतिशत बढ़ी है.

 

सेग्मेंट पर नजर डालें तो पिछले साल के मुकाबले फाइनेंशियल सर्विस सेग्मेंट में 15 प्रतिशत, रिटेल में 19.4 प्रतिशत, कम्युनिकेशन में 21.7 प्रतिशत, मैन्युफैक्चरिंग में 46 प्रतिशत और लाइफ साइंस में 28 प्रतिशत की ग्रोथ दर्ज हुई है. नतीजों के बाद इंफोसिस के सीईओ और एमडी सलिल पारेख ने कहा कि हमारे बेहतर प्रदर्शन और मार्केट शेयर में बढ़त से साबित हुआ है कि ग्राहकों ने उनके अपने डिजिटल ट्रांसफॉर्मेंशन के लिये हम पर अपना भरोसा जताया है. हमे उम्मीद है कि आने वाले समय में बड़ी संख्या में कंपनियों के डिजिटल होने से इस सेग्मेंट में कंपनियों का खर्च और बढ़ेगा.

Check Also

Budget 2023: बजट के लिए वित्त मंत्री मांग रहे हैं सुझाव, ऐसे जाहिर करें अपनी राय

अगले बजट की तैयारी शुरू कर दी गई है। वित्त मंत्री निर्मल सीतारमण बजट तैयार करने के लिए देश भर …