अंतरिक्ष में बढ़ेगी भारत की ताकत, इसरो के लिए एचएएल बनाएगा इंजन, जानें क्‍यों है खास क्रायोजेनिक इंजन मैन्युफैक्चरिंग सेंटर

27_09_2022-27_09_2022-icmf_karnataka_23101708_9140116

बैंगलोर: राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने बैंगलोर में एचएएल द्वारा स्थापित एकीकृत क्रायोजेनिक इंजन विनिर्माण केंद्र (आईसीएमएफ) का उद्घाटन किया। यहां भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के लिए पूरे रॉकेट इंजन का निर्माण एक ही स्थान पर किया जा सकता है। इस अवसर पर कर्नाटक के राज्यपाल थावरचंद गहलोत, मुख्यमंत्री बसवराज बोमई, इसरो अध्यक्ष एस सोमनाथ, एचएएल के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक सीबी अनंतकृष्णन उपस्थित थे।

4500 वर्ग मीटर के क्षेत्र में स्थापित केंद्र

दरअसल, एचएएल द्वारा स्थापित इंटीग्रेटेड क्रायोजेनिक इंजन मैन्युफैक्चरिंग सेंटर (आईसीएमएफ) को 4,500 वर्ग मीटर के क्षेत्र में बनाया गया है। इसमें भारतीय रॉकेट के क्रायोजेनिक (CE20) और सेमी-क्रायोजेनिक (SE2000) इंजन के निर्माण के लिए 70 से अधिक हाई-टेक उपकरण और परीक्षण सुविधाएं होंगी।

2013 में एमओयू पर हस्ताक्षर

 

2013 में, एचएएल के अंतरिक्ष विज्ञान प्रभाग में क्रायोजेनिक इंजन मॉड्यूल निर्माण केंद्र स्थापित करने के लिए भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के साथ एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए थे। हालांकि, 208 करोड़ रुपये के निवेश के साथ आईसीएमएफ की स्थापना के लिए 2016 में इसमें संशोधन किया गया था।

भारत के लिए क्यों खास ?

बेंगलुरु स्थित एचएएल ने सोमवार को एक बयान में कहा कि विनिर्माण और संयोजन के लिए आवश्यक सभी महत्वपूर्ण उपकरणों की खरीद की प्रक्रिया पूरी कर ली गई है। इसके अलावा निर्माण कार्य भी शुरू हो गया है। इस प्लांट में मार्च 2023 से मॉड्यूल्स का निर्माण शुरू हो जाएगा। एचएएल इसरो के लिए तरल प्रणोदक टैंक और पीएसएलवी, जीएसएलवी, आदि के लिए प्रक्षेपण वाहन भी बनाती है।

इन देशों ने हासिल की विशेषज्ञता

एचएएल ने एक बयान में कहा है कि क्रायोजेनिक इंजन दुनिया भर में लॉन्च वाहनों में सबसे अधिक इस्तेमाल किए जाने वाले इंजन हैं। क्रायोजेनिक इंजन की जटिलता के कारण, कुछ ही देशों ने आज तक इसमें महारत हासिल की है। इनमें अमेरिका, फ्रांस, जापान, चीन और रूस शामिल हैं। 5 जनवरी 2014 को, भारत ने क्रायोजेनिक इंजन के साथ GSLV-D5 को सफलतापूर्वक उड़ाया, क्रायोजेनिक इंजन विकसित करने वाला छठा देश बन गया।

Check Also

भारत को अपना मानने वाला हर भारतीय हिंदू है: भागवत

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के अध्यक्ष मोहन भागवत ने गुरुवार को कहा कि हर कोई हिंदू …