मुख्यमंत्री निःशुल्क अन्नपूर्णा फूड पैकेट योजना का शुभारम्भ

जयपुर, 15 अगस्त (हि.स.)। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि राज्य सरकार आमजन को अधिक से अधिक राहत देने की मंशा के मद्देनजर फैसले कर रही है। इसी क्रम में स्वतंत्रता दिवस के पावन अवसर पर राज्य में मुख्यमंत्री निःशुल्क अन्नपूर्णा फूड पैकेट योजना का शुभारम्भ किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि योजना के तहत राज्य में 1.04 करोड़ से अधिक परिवारों को हर माह निःशुल्क अन्नपूर्णा फूड पैकेट का वितरण किया जाएगा।

गहलोत मंगलवार को बिड़ला सभागार में आयोजित मुख्यमंत्री निःशुल्क अन्नपूर्णा फूड पैकेट योजना के शुभारम्भ कार्यक्रम को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने लाभार्थियों को फूड पैकेट का वितरण कर योजना का शुभारम्भ किया। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार गरीब को केन्द्र में रखकर फैसले ले रही है, जिसकी देशभर में चर्चा है। राज्य सरकार ने सभी जनकल्याणकारी योजनाओं को धरातल पर उतार कर आमजन को राहत देने का कार्य किया है। जनहित में लाई गई योजनाएं रेवड़ी ना होकर लोकतांत्रिक सरकार का आमजन के प्रति दायित्व है।

प्रदेश में कोई भूखा न सोए के संकल्प को साकार करने की दिशा में पोस मशीन के माध्यम से वितरित किए जाने वाले इस अन्नपूर्णा फूड पैकेट में एक-एक किलो चना दाल, चीनी व आयोडाइज्ड नमक, एक लीटर सोयाबीन रिफाइण्ड खाद्य तेल, 100-100 ग्राम मिर्च पाडडर व धनिया पाउडर तथा 50 ग्राम हल्दी पाउडर निःशुल्क मिलेगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि भारत सरकार द्वारा राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना (एनएफएसए) में अधिकतम लाभार्थियों की सीमा निश्चित करने से कई जरूरतमंद परिवार इसके लाभ से वंचित हैं। कोविड के दौरान निराश्रित परिवारों का सर्वे कर लगभग 32 लाख एनएफएसए एवं नॉन-एनएफएसए परिवारों को 5500 रुपये की आर्थिक सहायता दी गई थी। उन्होंने कहा कि जिन नॉन-एनएफएसए परिवारों को कोविड में आर्थिक सहायता दी गई थी, उन्हें भी अन्नपूर्णा राशन किट योजना में निःशुल्क राशन किट उपलब्ध करवाया जाएगा। उन्होंने केन्द्र सरकार से भी आग्रह किया है कि राशन वितरण की अवधि 6-6 माह बढ़ाने के स्थान पर इसे नियमित रूप से लागू किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि अन्नपूर्णा फूड पैकेट वितरण पर राशन डीलर्स को मिलने वाले कमीशन को चार रुपये से बढ़ाकर दस रुपये प्रति पैकेट कर दिया गया है। साथ ही, मुख्यमंत्री ने राज्य में राशन डीलर्स को टेलिस्कोपिक रेट के आधार पर कमीशन देने एवं पोस मशीन के पेटे राशन डीलर्स से कोई शुल्क नहीं लिए जाने की घोषणा की। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने योजना के पोस्टर का विमोचन किया। साथ ही, मुख्यमंत्री ने अन्नपूर्णा फूड पैकेट के वितरण के लिए समारोह स्थल के पास बनाई गई अस्थाई उचित मूल्य की दुकानों का अवलोकन किया। कार्यक्रम में अन्नपूर्णा फूड पैकेट योजना पर आधारित शॉर्ट वीडियो फिल्म भी प्रदर्शित की गई।

गहलोत ने कहा कि राज्य सरकार ने अभिनव पहल करते हुए महंगाई राहत कैम्प लगाकर 10 जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ आमजन को दिया। प्रदेश के 1.84 करोड़ परिवार इन कैम्पों में अपना पंजीकरण करवा चुके हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में नये जिले बनाए गए हैं, जिससे प्रशासनिक एवं वित्तीय कार्य तेज गति से होंगे। राज्य में न्यूनतम आय की गारंटी एवं स्वास्थ्य का अधिकार सम्बन्धी कानून बनाए गए हैं, जो देश में अन्यत्र कहीं नहीं है। गिग वर्कर्स के कल्याण एवं सुरक्षा के लिए भी कानून बनाया गया है। उन्होंने कहा कि सरकारी कर्मचारियों को पुरानी पेंशन योजना का लाभ दिये जाने की पूरे देश में चर्चा है।

गहलोत ने कहा कि राज्य सरकार 2030 तक राजस्थान को अग्रणी राज्यों की श्रेणी में शुमार करने का विजन लेकर चल रही है। इसमें सभी प्रदेशवासियों की भागीदारी आवश्यक है। उन्होंने कहा कि जल्द ही मिशन 2030 को विधिवत रूप से लांच कर इसका विजन डॉक्यूमेंट तैयार किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सभी क्षेत्रों में आगे बढे़ यह हमारा लक्ष्य है।

खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने कहा कि राजस्थान देश का एकमात्र राज्य है जहां सरकारी योजनाएं जनहित को ध्यान में रखकर लागू की गई हैं। राज्य सरकार की मंशा आमजन को महंगाई की मार से बचाने की है। सहकारिता मंत्री उदयलाल आंजना ने कहा कि महंगाई से त्रस्त जनता को राहत देने के लिए राज्य सरकार ने महंगाई राहत शिविर लगाकर गारंटी कार्ड के माध्यम से 10 जनकल्याणकारी योजनाओं के लाभ की गारंटी दी। अन्नपूर्णा फूड पैकेट योजना इसी दिशा में एक बड़ा कदम है।

पूर्व शिक्षा मंत्री गोविन्द सिंह डोटासरा ने कहा कि इस योजना से महंगाई की मार कम होगी। राज्य सरकार गुड गवर्नेंस की मिसाल कायम कर रही है। मुख्य सचिव उषा शर्मा ने कहा कि यह राज्य सरकार की महत्वपूर्ण योजना है जिसका विशेष रूप से महिलाओं को लाभ मिलेगा और उन्हें घर चलाने में आसानी होगी। उन्होंने पंजीकरण से शेष रहे लाभार्थियों से भी शीघ्र रजिस्ट्रेशन करवाने का आग्रह किया।

कार्यक्रम में बाड़मेर के मांगणियार लोक कलाकारों द्वारा राज्य सरकार की लोककल्याणकारी योजनाओं पर आधारित मनमोहक लोक प्रस्तुति दी गई। इस अवसर पर जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी मंत्री डॉ. महेश जोशी, विधायक रफीक खान, अमीन कागजी, प्रमुख शासन सचिव सहकारिता श्रेया गुहा समेत अन्य जनप्रतिनिधि, अधिकारी, राशन डीलर्स एवं लाभार्थी उपस्थित रहे।